बहन को मैसेज किया, ‘बेटा अकेला है’, फिर पति संग दे दी जान

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में दंपती के अपने घर में आत्महत्या करने के केस में हैरान कर देने वाली बात सामने आई है। ज्ञानखण्ड-1 के फ्लैट में सेल्स मैनेजर और उनकी पत्नी ने मरने से पहले बहन को वॉट्सऐप पर मेसेज किया था। मेसेज में लिखा था- हम दोनों जा रहे हैं, बच्चे को 6 बजे ले जाना। जानकारी मिलने पर जब पुलिस फ्लैट पर पहुंची, तब 8 महीने का बच्चा अपनी मां के शव के नीचे बैठकर रो रहा था।

हालांकि, पुलिस को मौके से कोई सुइसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस का कहना है कि महिला के हाथ में चाकू से काटने के निशान मिले हैं। इससे मामला आत्महत्या का लग रहा है। सीओ इंदिरापुरम अंशु जैन ने बताया कि फ्लैट में निखिल कुमार (31) और पल्लवी भूषण(29) अपने बच्चे के साथ रहते थे।

पल्लवी ने आखिरी मेसेज शुक्रवार सुबह करीब 3:45 बजे ग्रेटर नोएडा में रहने वाली अपनी बहन अंजलि को किया था। कॉल नहीं उठाने पर अंजलि ने अपनी गाजियाबाद में रहने वाली सहेली को बहन के घर भेजा था। घर का लॉक खुला हुआ था, इसके बाद घटना की जानकारी हुई। पुलिस ने दोनों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। वहीं, उनके बच्चे को बहन को सौंप दिया गया है।

घटना देखकर पुलिस भी हुई हैरान
इंदिरापुरम थाना प्रभारी संजीव शर्मा ने बताया कि कंट्रोल रूम पर उन्हें शुक्रवार सुबह आत्महत्या की सूचना मिली थी। वह टीम के साथ पहुंचे तो फ्लैट में घुसते ही ड्राइंग रूम में पल्लवी का शव फंदे पर लटका मिला। इस दौरान उनका बच्चा नीचे बैठा हुआ था। उन्होंने चेकिंग की तो दूसरे कमरे उनके पति का भी शव मिला।

2 साल पहले हुई थी शादी
निखिल और पल्लवी की शादी 2 साल पहले हुई थी। वह इस फ्लैट में दिवाली के आसपास ही रहने आए थे। हालांकि, अभी तक मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका। निखिल की जॉब के संबंध में कोई परेशानी नहीं होने की बात सामने आई है। पुलिस उनके मोबाइलों की भी जांच कर रही है।

पत्नी ने पहले नस काटने का किया प्रयास
पुलिस के अनुसार, बेडरूम में एक चाकू और कुछ खून के धब्बे मिले हैं। पल्लवी के उल्टे हाथ में चाकू से काटने के निशान हैं। पुलिस को आशंका है कि महिला ने पहले हाथ की नस काटने का प्रयास किया था।

बेटे को गोद में लेकर दी आखिरी थपकी
जांच में सामने आया है कि कुछ खून के धब्बे बच्चे की शर्ट पर पीछे की तरफ लगे हुए हैं। अंदेशा है कि हाथ नहीं काट पाने पर पल्लवी बच्चे को बेडरूम से लेकर बाहर आई होगी। जहां उसने थपकी देकर उसे सुलाया होगा। इस दौरान ही खून बच्चे के लग गया होगा।

हमेशा हंसता हुआ दिखता था परिवार
घटना के बाद निखिल के फ्लैट के आसपास रहने वाले लोग काफी हैरान हैं। लोगों ने बताया कि पूरा परिवार बहुत अच्छा था। दोनों हमेशा हंसते हुए मिलते थे। कभी घर से किसी प्रकार के झगड़े की आवाज तक नहीं आई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper