बाजार में बिक्री के लिए आई ‘गंदी-सी’ जींस, कीमत जानकर चौक जाएंगे आप!

 

लखनऊ: फैशन के इस दौर में न तो गारंटी मिलती है और न ही डिस्काउंट मिलता है। इसके बावजूद लोग फैशन में अपडेट रहने के लिए आंख बंद करके पैसा खर्च करते हैं। आज के समय में आम लोगों के बीच भी ब्रैंडेड कपड़ों की डिमांड काफी बढ़ गई है। ब्रैंडेड कपड़ों की होड़ में सिर्फ अपर क्लास लोग ही नहीं बल्कि मिडल क्लास लोग भी पानी की तरह पैसा बहा रहे हैं। आमतौर पर किसी मॉल में जो ब्रैंडेड जींस 5-10 हजार रुपये की मिलती है, वह अन्य बाजारों में 500 से 1000 रुपये तक के आसानी से मिल जाती हैं।

इसी सिलसिले में आज हम आपको एक ऐसी ब्रैंडेड जींस के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी कीमत सुनकर आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी। इतना ही नहीं, जींस की खासियत जानकर तो आपके सिर में भी दर्द हो सकता है। जी हां, तस्वीर में दिख रही ये ‘गंदी-सी’ जींस इटैलियन फैशन कंपनी Gucci ने बनाई है, जिसकी कीमत 1,400 डॉलर (1,02,651 रुपये) है। जींस की खास बात ये है कि इस पर घास के दाग बनाए गए हैं, ताकि इसे पहनने के बाद रफ एंड टफ वाला लुक आए।

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि भारतीयों को ये जींस कुछ खास पसंद न आए। लेकिन, आपको बता दें कि Gucci की ये जींस इटैलियन फैशन वीक विंटर 2020 में सामने आई थी। जिसके बाद अब इसे बिक्री के लिए बाजारों में भी उतार दिया गया है। Gucci की इस जींस की तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही हैं। जींस की कीमत और इसकी अजीबो-गरीब खासियत को देखते हुए लोगों के तरह-तरह के कमेंट्स भी आ रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper