बाज नहीं आ रहे जमाती, नेपाल की सीमा में घुसने कि कर रहे तैयारी

लखनऊ : राजधानी स्थित सदर कसाई बाड़ा मस्जिद से पकड़े गए तब्‍लीगी जमात के 12 लोगों के कोरोना संक्रमित होने के बाद से पुलिस ने छापेमारी तेज कर दी है। अब तक हुई छापेमारी में करीब 74 जमातियों को पुलिस ने पकड़ा। सभी को बख्‍शी का तालाब स्थित जीसीआरजी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

गौरतलब है कि पुराने लखनऊ की मस्जिदों में पुलिस ने छानबीन की। इस दौरान कैसरबाग, अमीनाबाद, चौक, तालकटोरा और सआदतगंज इलाके से करीब 40 लोगों को पकड़ा गया। सभी बिना पुलिस को सूचना दिए मस्जिदों में ठहरे थे। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम ने सभी के सैंपल लिए हैं। उधर, गुडंबा के जैतापुर स्थित मस्जिद में 17 लोग मौजूद मिले। पूछताछ में उन लोगों ने बताया कि वह 28 फरवरी को लखनऊ आए थे। सभी दिल्‍ली के रहने वाले हैं। पुलिस ने उन्‍हें मस्जिद में ही क्‍वारंटाइन किया है।

दूसरी ओर, निजामुद्दीन के जमात में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद जहां देशभर में खतरा बढ़ गया है। वहीं, इंटेलिजेंस की रिपोर्ट ने उत्तर प्रदेश के लिए किसी बड़ी अनहोनी की घंटी बजा दी है।

खुफिया एजेंसी की ए-2 कैटेगरी की रिपोर्ट में बताया गया है कि नेपाल बॉर्डर पर करीब 2500 जमाती यूपी, बिहार व उत्तराखंड के रास्ते उत्तर प्रदेश में घुसपैठ की तैयारी में हैं। इनमें से कई जमाती कोरोना पॉजिटिव बताए जा रहे हैं। इसके बाद एसएसबी के साथ बार्डर पर शामिल सुरक्षा बलों को अलर्ट कर दिया गया है। पुख्ता सबूत और इनपुट के आधार पर इंटेलिजेंस की रिपोर्ट की कैटेगरी तय होती है। ए-2 कैटेगरी के मुताबिक, सबूत पुख्ता और सूचना सटीक है कि धारचूला, गोरखपुर, रक्सौल में भारत-नेपाल सीमा पर करीब 2500 लोग हैं, जो लॉकडाउन के बीच घुसपैठ की तैयारी कर रहे हैं। इनमें से अधिकांश 16 से 18 फरवरी तक नेपाल में इस्तिमा जमात में शामिल हुए थे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper