बाबा रामदेव ने कोरोना की दवाई में डाली हैं ये चीजें, दिन में इतनी बार लेनी होगी डोज

नई दिल्ली: योगगुरु बाबा रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद ने कोरोना संक्रमितों के शत प्रतिशत उपचार का दावा करते हुए पहली आयुर्वेदिक दवा ‘कोरोनिल’ मंगलवार को लांच की। हरिद्वार में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कोरोनिल को लांच किया गया जिसका सीधा प्रसारण सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर किया गया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में योगगुरु रामदेव बोले कि इस आयुर्वेदिक दवा को बनाने में सिर्फ देसी सामान का इस्तेमाल किया गया है, जिसमें मुलैठी-काढ़ा समेत कई चीजों को शामिल किया गया है। साथ ही गिलोय, अश्वगंधा, तुलसी, श्वासरि रस का भी इस्तेमाल इसमें किया गया है।

बाबा रामदेव ने कहा कि दालचीनी, लॉन्ग, पीपली, सोंठ, मुलैठी, गिलोय, तुलसी, अदरक, काली मिर्च और मुलैठी का काढ़ा हमने पूरे देश को बताया था, उससे भी घरो में रहकर हजारो लोग ठीक हुए हैं, लेकिन साक्ष्यों पर आधारित दवा बनाना चुनौतीभरा कार्य था।

पतंजलि के अनुसार, अश्‍वगंधा से कोविड-19 के रिसेप्‍टर-बाइंडिंग डोमेन (RBD) को शरीर के ऐंजियोटेंसिन-कन्‍वर्टिंग एंजाइम (ACE) से नहीं मिलने देता। यानी कोरोना इंसानी शरीर की स्‍वस्‍थ्‍य कोशिकाओं में घुस नहीं पाता। वहीं गिलोग कोरोना संक्रमण को रोकता है। तुलसी कोविड-19 के RNA पर अटैक करती है और उसे मल्‍टीप्‍लाई होने से रोकती है। बाबा रामदेव ने कोरोनिल के साथ श्वासारि वटी और अणुतेल को भी लांच किया।

बाबा रामदेव ने कहा कि श्वासारि वटी श्वसन प्रणाली को मजबूत करने वाली दवा है। यह सर्दी, जुकाम और बुखार में ली जाने वाली दवा है। अणुतेल को सुबह में नाक में डालना होता है। कोरोनिल में मौजूद तुलसी, गिलोय और अश्वगंधा रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। कोरोनिल को खाने के बाद दिन में तीन बार लेना है। बाबा रामदेव का दावा है कि यह दवा तीन से सात दिन में कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति को ठीक कर देगी।

कोरोनिल को बनाने के लिए पतंजलि शोध संस्थान तथा राजस्थान में जयपुर के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस ने मिलकर शोध किया है। इस दवा का निर्माण दिव्यफार्मेसी और पतंजलि आयुर्वेद मिलकर करेंगे। यह दवा कुछ दिनों में पतंजलि फार्मेसी में उपलब्ध होगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper