बाराबंकी में जहरीली शराब का कहर, 10 लोगों की मौत, दर्जनों की हालत गंभीर

बाराबंकी। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे बाराबंकी में जहरीली शराब पीने से रामनगर थाना क्षेत्र के 10 लोगों की मौत हो गयी, जबकि कई लोग अब भी अस्पताल में भर्ती हैं। तीन लोगों की हालत गंभीर होने के कारण जिला अस्पताल से लखनऊ के लिए रेफर किया गया है। घटना की खबर मिलते ही डीएम और एसपी मौके पर पहुंच गये हैं। सीएम योगी आदित्य नाथ भी जानकारी होते ही डीएम और एसपी को त्वरित कार्रवाई का निर्देश दिया है, जबकि प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।

रानीगंज में कुछ लोगों ने शराब की दुकान से शराब खरीदकर पी थी। शराब जहरीला होने के कारण पीते ही लोग बीमार होने लगे। जैसे ही इसका पता चला, परिजन उन्हें अस्पताल में भर्ती कराए, लेकिन 10 लोगों की मौत हो गयी। इसकी खबर लगते ही मंगलवार सुबह डीएम और एसपी भी मौके पर पहुंच गये। जांच चल रही है। घटना में गंभीर रूप से बीमार तीन लोगों को लखनऊ के लिए रेफर कर दिया गया है, जबकि कई लोगों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पुलिस के अनुसार मृतकों में सात लोगों की पुष्टि हो गई है। इसमें अकोहरा का सोनू (25), पिपरीमोहन का सूर्यभान और देवरिया के एक ही परिवार के पांच लोग राजेश (35), रानीगंज का रामेश कुमार (35), सोनू पुत्र छोटे लाल (25), मुकेश (28) और छोटेलाल शामिल हैं। इन सभी की जहरीली पीने से मंगलवार की सुबह मौत हुई है। जबकि अस्पताल में दाखिल तिलकराम, महेंद्र, निर्मल, उमरी गांव के राजेंद्र, सिमरा के विनय प्रताप, तेलवानी के महेश और मुंड के शिव कुमार की हालत गंभीर बनी हुई है।

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जनपद में जहरीली शराब पीने से दस लोगों की मौत के मामले में मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख सचिव आबकारी को जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री स्वयं इस मामले में अपनी नजर बनाए हुए हैं रिपोर्ट के आधार पर कई बड़े अधिकारियों पर गाज गिर सकती है। वहीं, इस मामले में लापरवाही बरतने में क्षेत्राधिकारी व थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया है। पूर्व मंत्री ने सरकार से इस मामले में निष्पक्ष जांच कर लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper