बिना मास्क पहने घर से निकालना खतरनाक, थूक से भी फैल सकता है कोरोना !

नई दिल्ली: जोर-जोर से बोलने के दौरान मुंह से निकलने वाले ड्रॉपलेट्स (थूक) भी कोरोना वायरस फैला सकता है। भाषण देने या चिल्लाकर बात करने से संक्रमित इंसान के मुंह से निकलने वाले ड्रॉपलेट्स 8 से 14 मिनट तक हवा में ठहर सकते हैं और इस दौरान इसके संपर्क में आने वाले लोग कोविड-19 से संक्रमित हो सकते हैं। इसलिए डॉक्टरों का कहना है कि घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनना जरूरी है, ताकि अगर ऐसे कण हवा में मौजूद हों तो आप उससे बच सकते हैं।

‘थूक से भी फैल सकता है कोरोना’
कंफेडरेशन ऑफ मेडिकल असोसिएशन ऑफ एशिया एंड असिनिया के प्रेजिडेंट डॉ. के.के अग्रवाल ने नैशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डायबिटीज एंड डाइजेस्टिव एंड किडनी डिजीज एंड पीएनएएस की स्टडी का हवाला देते हुए कहा कि यह सच है कि जब कोई इंसान जोर से बोलता है तो कोरोना वायरस हवा में फैल सकता है। बोलने के दौरान मुंह से निकलने वाले ड्रॉपलेटस हवा में रहते हैं। इसलिए घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनना जरूरी है। उन्होंने कहा कि कोविड का वायरस को लेकर रोज नई नई बातें सामने आ रही हैं। अभी तक यह माना जाता रहा है कि यह वायरस हवा में नहीं फैलता है, लेकिन अब यह भी कहा जा रहा है कि यह वायरस कुछ देर के लिए हवा में रह सकता है।

हवा में रुकने पर ड्रॉपलेट्स बन सकते हैं सक्रमण का कारण
डॉ. अग्रवाल ने यह भी कहा कि इससे पहले रिसर्च से पता चला है कि इन ड्रॉपलेट्स में सांस से संबंधित बीमारियां जैसे कि टीबी, इन्फ्लूएंजा वायरस और खसरा वायरस भी हो सकते है। डॉक्टर का कहना है कि जोर से बोलने पर एक मिनट में कम से कम 1000 ड्रॉपलेट्स बाहर निकलते हैं। ड्रॉपलेट्स के बहुत छोटे से छोटे कण भी होते हैं, ये कण अगर हवा में रुक सकते हैं तो फिर यह संक्रमण का कारण बन सकते हैं।

..तो 3 फीट की दूरी भी नहीं है कारगर
माइक्रोबयोलॉजिस्ट डॉ. नरेंद्र सैनी भी मानते हैं कि यह संभव है। संक्रमित इंसान छींकता है या खांसता है तो उसके मुंह या नाक से ड्रॉपलेट्स निकलते हैं, उसी प्रकार संक्रकित इंसान अगर जोर-जोर से बात करेगा तो उससे भी ड्रॉपलेट्स निकलते हैं और यह संक्रमण का कारण बन सकते हैं। हम तीन फीट की दूरी की बात कर रहे हैं, यह नॉर्मल स्थिति में है, अगर कोई जोर-जोर से बात कर रहा है तो यह ड्रॉपलेट्स तीन फीट से भी ज्यादा दूर तक जा सकते हैं।

डॉक्टर्स बोले, इसलिए मास्क है जरूरी
डॉक्टर सैनी ने कहा कि हमें इन बातों को समझना होगा और घर से बाहर निकलने पर इन बातों का ध्यान रखना होगा। अब कई ऐसे भी लोग हैं जो कोविड से संक्रमित हैं और उनमें लक्षण नहीं हैं। ऐसे में पीड़ित इंसान को भी नहीं पता है कि वह संक्रमित है, वो अनजान स्थिति में बिना मास्क बाहर निकलेंगे और जोर-जोर से बात करेंगे, खांसेंगे, छींकेंगे तो संक्रमण तो फैलेगा ही। इसलिए अभी हर इंसान को घर से बाहर निकलने पर मास्क जरूर लगाना चाहिए।

मास्कइंडिया से मुहिम में आप भी एक रक्षक बनें, जागरूकता फैलाने में मदद करें, COVID-19 से लड़ने में अपनी भूमिका निभाएं। अपना मास्क बनाएं और उसके साथ अपनी सेल्फी अपलोड करें। सर्वश्रेष्ठ पोस्ट को #MaskIndia पर शेयर किया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper