बिना राशन कार्ड के भी मुफ्त मिलेगा 5 किलो गेहूं और चावल, जानिए कैसे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कोरोना काल में 9वीं बार राष्ट्र को संबोधित किया। अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई, दूसरी लहर से निपटने के लिए किए गए प्रयास, ऑक्सीजन की मांग व आपूर्ति, कोरोना वैक्सीनेशन और 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को मुफ्त अनाज देने जैसे मुद्दों पर बात की।

देशवासियों को मुफ्त राशन देने की घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘आज सरकार ने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा। महामारी के इस समय में, सरकार गरीब की हर जरूरत के साथ, उसका साथी बनकर खड़ी है। यानि नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा।’

सबसे खास बात है कि इस बार गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत उन लोगों को भी मुफ्त अनाज मिलेगा, जिनके पास राशन कार्ड नहीं है। योजना का लाभ लेने के लिए उन्हें आधार कार्ड के जरिए सिर्फ रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इस संबंध में प्रधानमंत्री मोदी की घोषणा के बाद खाद्य मंत्रालय ने बताया कि अगर किसी के पास राशन कार्ड नहीं है तो उसे अपना आधार ले जाकर रजिस्ट्रेशन कराना होगा, जिसके बाद उन्हें एक स्लिप दी जाएगी। उस स्लिप को दिखाने के बाद उन्हें मुफ्त अनाज मिलेगा। इसके लिए राज्य सरकारों की भी जिम्मेदारी तय की गई है। राज्य सरकारें गरीब मजदूरों को मुफ्त राशन का लाभ सुनिश्चित कराएं।

गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मिलने वाला मुफ्त 5 किलो अनाज, राशन कार्ड पर मिलने वाले अनाज के कोटे से अतिरिक्त होगा। यानी जिन लोगों को राशन कार्ड पर पहले से अनाज मिलता आया है, उन्हें 5 किलो और राशन मिलेगा। उन्हें इसके लिए कोई शुल्क अदा नहीं करना पड़ेगा। केंद्र सरकार का इसके पीछे का मकसद है कि महामारी के दौर में किसी भी गरीब को भूखा न सोना पड़े।

इससे पहले कोरोना की दूसरी लहर के बीच केंद्र की मोदी सरकार ने दो महीने मुफ्त राशन देने की घोषणा की थी, जिसे अब नवंबर तक बढ़ा दिया गया है। पिछले साल जब कोरोना की पहली लहर आई थी, तब भी प्रधानमंत्री ने 81 करोड़ देशवासियों के लिए मुफ्त राशन देने की घोषणा की थी, जिसके तहत छठ पूजा तक योग्य लोगों को फ्री में अनाज मिला था।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत करीब 81 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन दिया जाता है। नेशनल फूड सिक्योरिटी एक्ट के तहत देश में 23 करोड़ के आसपास राशन कार्ड धारक हैं। राशन कार्ड धारकों को सरकार की तरफ से सब्सिडी पर दी जाने वाली मुफ्त अनाज योजनाओं का लाभ मिलता है। लेकिन इस बार जिनके पास राशन कार्ड नहीं होगा, उन्हें भी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत फ्री राशन दिया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper