बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सख्त हुआ प्रशासन

पटना: बिहार में कोरोना की बढ़ती रफ्तार के बाद अब सरकार और प्रशासन भी सख्ती बरतने के मूड में है। राज्य में गुरुवार से जहां नाइट कर्फ्यू की घोषणा पहले ही कर दी गई है, वहीं कोरोना प्रोटोकॉल के पालन करवाने के लिए भी सड़कों पर सख्ती की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी की माने तो जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम अब सख्त हुई है। आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों पर निगरानी तेज कर दी गई है। कोरोना कमांड रूम से संक्रमितों को लगातार फोन कर जानकारी ली जा रही है।

पटना की सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी ने बताया कि ऑनलाइन मीटिंग पर जिलाधिकारी लेवल पर मॉनिटरिंग की जा रही है। संक्रमित के संपर्क में आने वालों को चिन्हित कर उनकी जांच का दायरा बढ़ाने और तेजी लाने का निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि जिस घर में संक्रमित पाए गए हैं, उनके रिश्तेदारों तथा उनके संपर्क में आए लोगों की जांच करने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि लोगों को कोरोना के लिए जागरूक करने का अभियान चलाया जा रहा है।

एक अधिकारी ने बताया कि पूरे जिले में कोरोना की दूसरी लहर की तरह सघन सैनिटाइजेशन का भी कार्य शुरू होने वाला है। इसके अलावे सार्वजनिक स्थानों या अपार्टमेंटों में कोरोना वायरस केस मिलते हैं तो उसे मिनी कंटेंटमेंट जोन घोषित किया जाएगा। सभी निगरानी समितियों को भी फिर से सक्रिय किया जाएगा।उल्लेखनीय है कि राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान 893 नए संक्रमितों की पहचान की गई। इसमें पटना में सर्वाधिक 565 मरीज मिले। राज्य में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 2,222 तक पहुंच गई। राज्य में सोमवार को 344 संक्रमितों की पहचान की गई थी।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा मंगलवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, राज्य में पिछले 24 घंटे में 893 कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई है। नए संक्रमितों में सबसे अधिक पटना में 565 कोरोना मरीजों की पहचान की गई। इसके अलावा गया में 99 नए संक्रमित पाए गए हैं, जबकि मुजफ्फरपुर जिले में 47, मुंगेर में 14, दरभंगा में 12, जमुई में 11, समस्तीपुर और वैशाली में 10-10 नए संक्रमित पाए गए हैं।

इस बीच, मंगलवार की शाम आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में राज्य में रात दस बजे से सुबह पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा राज्य में प्री स्कूल से आठवीं कक्षा (वर्ग) तक के स्कूलों को बंद रखने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा भी कई पाबंदियां लागू कर दी गई हैं। यह आदेश छह जनवरी से 21 जनवरी तक लागू होगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper