बिहार में न्यूनतम पारा चढ़ा, आज उत्तरी भागों में बूंदाबांदी के आसार

पटना: पिछले 24 घंटों में राज्य के अधिकतर जिलों में बादल छाने से न्यूनतम तापमान में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। वहीं दिन का तापमान आंशिक रूप से गिरा है। राज्य के उत्तरी भाग में आंशिक बूंदाबांदी के आसार हैं। बिहार का मौसम शुष्क बना हुआ है। पटना के न्यूनतम पारे में पिछले 24 घंटों में तीन डिग्री की बढ़ोतरी हुई है। राज्य में सबसे ठंडा रहे गया का तापमान दो डिग्री ऊपर चढ़कर 7.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विज्ञान केंद्र ने पूर्वानुमान में कहा है कि अगले 24 से 48 घंटों में मौसम में खास बदलाव के आसार नहीं हैं। सूबे में सोमवार को भी आंशिक बादल छाए रहेंगे। दिन में धूप थोड़ी देर से निकलेगी।

इसका प्रभाव भी आम दिनों से कमजोर रहेगा। रात के तापमान में अभी बढ़ोतरी दर्ज की जा सकती है। बादल छाने के बाद भी अभी सूबे के शहरों का अधिकतम पारा सामान्य से ऊपर बना हुआ है। पटना और गया में अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री ऊपर क्रमश: 24.6 और 25.6 डिग्री सेल्सियस जबकि, भागलपुर में दो डिग्री ऊपर 24.6 और पूर्णिया में 24.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सूबे के कृषि वैज्ञानिकों ने मौसम को खेती के अनुकूल माना है।

राज्य के वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक अनिल कुमार झा ने बताया कि अभी खेतों में जो भी फसलें हैं, उनके लिए रात और दिन में कम तापमान ही अनुकूल होता है। अगर कुछ जगहों पर आंशिक बूंदाबांदी भी होती है तो इससे गेहूं और दलहनी फसलों को फायदा ही होगा। गेहूं की खेती में सिंचाई का खर्च भी बचेगा। हालांकि यह बारिश ज्यादा नहीं होनी चाहिए। हालांकि उन्होंने कहा कि ज्यादा कोहरा या बादल रहने की स्थिति में आलू जैसी फसलों में रोग लगने की आशंका बढ़ सकती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper