बिहार सरकार ने कोटा से छात्रों बुलाने से किया इनकार

पटना: कोरोना संक्रमण के चलते कोटा में फंसे छात्रों को बसें भेजकर उत्तर प्रदेश वापस बुलाने के योगी सरकार के फैसले के बाद अब बिहार सरकार पर भी इस बात का दबाव बढ़ गया था। मगर, बिहार सरकार ने इस बात से साफ इनकार कर दिया है। ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने बताया कि हमारी सरकार बच्चों को वापस नहीं बुलाएगी, जो वहां पर फंसे हैं उन्हें वहीं सुविधा पहुंचाई जाएगी। इसके साथ ही वहां की राज्य सरकार से भी सुविधा देने को कहा जा रहा है।

श्रवण कुमार ने कहा कि अभी छात्रों तक सुविधाएं पहुंचाने का काम सरकार कर रही है। इस समय जरूरी ये है कि सभी धैर्य से काम लें और इस आपदा के खत्म होने का इंतजार करें। इसके साथ ही जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन ने बताया कि छात्रों को वापस बुलाने से सोशल डिस्टेंसिंग की बात खत्म हो जाती है। ऐसे में छात्रों का वहीं पर रहना सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि ये मुश्किल फैसला है लेकिन ये वर्तमान हालातों को देखते हुए जरूरी भी है। बिहार सरकार दूसरे राज्यों से अपील कर रही है कि छात्रों तक मदद पहुंचाई जाए।

बता दें कि लॉकडाउन के बाद कोटा में देश भर के करीब 30 हजार से अधिक स्टूडेंट्स फंसे हुए हैं। इनमें मुख्यतः उत्तर प्रदेश के लगभग 7500, बिहार के करीब 6500, मध्य प्रदेश के 4000, झारखंड के 3000, हरियाणा के 2000, महाराष्ट्र के 2000, नार्थ ईस्ट के 1000 और पश्चिम बंगाल के लगभग 1000 विद्यार्थियों के साथ कई अन्य क्षेत्रों के विद्यार्थी भी शामिल हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper