बीच सड़क पर सपा उम्मीदवार से भिड़ी मेनका गांधी, मतदाताओं को धमकाने का लगाया आरोप

सुल्तानपुर: केंद्रीय मंत्री व भाजपा प्रत्याशी मेनका गांधी ने रविवार को सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार चन्द्रभद्र सिंह उर्फ सोनू सिंह पर मतदाताओं को धमकाने का आरोप लगाया है। इस दौरान सुल्तानपुर में बीच सड़क पर दोनों प्रत्याशियों के बीच तीखी बहस भी हो गई।

सुल्तानपुर के एक बूथ पर गठबंधन उम्मीदवार सोनू सिंह और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के बीच बहस हो गई। बूथ पर पहुंची मेनका ने सोनू सिंह से कहा कि यहां दबंगई नहीं चलेगी। इसके बाद वहां मौजूद सोनू सिंह ने अपने समर्थकों को पीछे जाने को कहा। मेनका गांधी मतदान के दौरान आज पोलिंग बूथ पर जाकर जायजा ले रही हैं, इस दौरान रास्ते में उनकी गठबंधन प्रत्याशी से बहस भी हुई। मेनका और सोनू सिंह की गाड़ी जब आमने-सामने आई, तो दोनों प्रत्याशियों के बीच जमकर तू-तू-मैं-मैं हुई। मेनका गांधी ने आरोप लगाया कि सोनू सिंह के समर्थक वोटरों को डरा धमकाकर अपने पक्ष में वोट करवा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सोनू सिंह के साथी कई बूथों पर खड़े हैं और मतदाताओं पर दबाव बना रहे हैं।

गठबंधन के उम्मीदवार सोनू सिंह ने आरोप को नकारते हुए कहा, “हमारा कोई समर्थक किसी को नहीं डरा रहा है, अगर समर्थक की बात करेंगे तो पूरा गांव ही हमारा समर्थक है। उन्होंने कहा कि इस गांव में उनका कोई वोटर ही नहीं है, ऐसे में वह कैसे ये आरोप लगा सकती हैं।” उधर भाजपा विधायक सूर्यभान सिंह ने भी सुरक्षा-व्यवस्था पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि बाहुबली चंद्रभद्र को देखते हुए सुरक्षा के इंतजाम नाकाफी हैं। सुरक्षा व्यवस्था और बढ़ाई जानी चाहिए। गौरतलब है कि मतदान से पहले ही सुल्तानपुर में आधी रात यहां मेनका गांधी के समर्थकों के साथ मारपीट की खबर है। भाजपा समर्थकों ने आरोप लगाया है कि गठबंधन के प्रत्याशी चंद्रभद्र सिंह उर्फ सोनू सिंह के समर्थकों ने मेनका गांधी के प्रचार में लगे आधा दर्जन लोगों को मारा-पीटा।

सुल्तानपुर के धनपत गंज के नंदगिरी में आधी रात को मेनका गांधी की टीम डोर-टू-डोर प्रचार में लगी थी। इसी दौरान उनके सदस्यों के साथ मारपीट की गई। इस घटना पर मेनका गांधी ने देर रात में एसपी से बात भी की थी। सुल्तानपुर के पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स ने बताया कि रात में घटना की सूचना मिली है। भाजपा प्रत्याशी मेनका गांधी की टीम के लोगों को चोट आई है। इस दौरान कई गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा है। मामले की जांच की जा रही है। उधर चंद्रभद्र के लोगों का आरोप है कि मेनका के लोग पैसा बांट रहे थे जिसका विरोध करने पर उनके साथ यह घटना हुई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper