बीजेपी की प्रचंड जीत पर बोले मोहन भागवत, अब श्रीराम का काम होकर रहेगा

उदयपुर: दूसरी बार लगातार बीजेपी को मिली प्रचंड जीत से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) में भी जबर्दस्त उत्साह का माहौल है। उदयपुर आए संघ प्रमुख मोहन भागवत के बयान से भी इस उत्साह को साफ समझा जा सकता है। यहां उन्होंने कहा कि राम का काम करना है तो राम का काम हो कर रहेगा। यह बात उन्होंने उदयपुर के बड़गांव क्षेत्र में स्थित प्रताप गौरव केंद्र के भक्ति धाम में मंदिर प्राण प्रतिष्ठा और जन समर्पण समारोह में कही।

इस मौके पर संघ प्रमुख भागवत और रामकथा वाचक संत मोरारी बापू ने महाराणा प्रताप के शौर्य, वीरता, पराक्रम और बलिदान को याद कर उनसे प्रेरणा लेने का आह्वान किया। दोनों ने प्रताप गौरव केंद्र के निर्माण को भविष्य के लिए शुभ संकेत बताते हुए राष्ट्र निर्माण के लिए युवाओं से सिर्फ राम नाम हीं नहीं जपने, बल्कि राम के लिए काम करने के लिए भी कहा।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद ‘सबका साथ, सबका विकास’ का संदेश दिया था। पीएम मोदी ने शनिवार को भी अपने संबोधन में सबको साथ लेकर चलने की बात कही थी। इस दौरान उन्‍होंने कई मुद्दों पर विस्‍तृत बात की थी। लेकिन उन्‍होंने राम मंदिर का जिक्र नहीं किया था। आरएसएस प्रमुख के इस बयान को उसी के जवाब के तौर पर देखा जा रहा है, जिसका बीजेपी की रिकॉर्डतोड़ जीत में अहम योगदान रहा है।

गौरतलब है कि द्वितीय प्रशिक्षण शिविर के लिए शुक्रवार से चार दिनों के लिए उदयपुर प्रवास कर रहे हैं। भागवत ने कहा कि हमें कहां से चलना है और कहा जाना है इस बात को ध्यान में रखते हुए देश में काम करना है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper