बुर्का नहीं पहनने को लेकर मुस्लिम लड़कियों का उत्पीड़न

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश में मुस्लिम कॉलेज की छात्राओं ने पुलिस को शिकायत कर कहा है कि उन्हें बुर्का नहीं पहनने को लेकर परेशान किया जा रहा है। बुलंदशहर जिले के खुर्जा की कॉलेज छात्राओं ने सोमवार को सब डिविजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) ईशा प्रिया से मुलाकात की और उन्हें स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि बदमाशों द्वारा उन्हें बुर्का पहनने के लिए मजबूर किया जा रहा है और उनका उत्पीड़न हो रहा है।

शिकायत पर तेजी से कार्रवाई करते हुए क्षेत्र के स्टेशन हाउस अधिकारी (एसएचओ) के साथ एसडीएम ईशा प्रिया छात्राओं के इलाके में पहुंचीं और स्थानीय निवासियों के साथ बैठक की। अधिकारियों ने इलाके के लोगों को चेताया कि कॉलेज की छात्राओं को परेशान करने वाले के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

एसडीएम ईशा प्रिया ने कहा, सराय मुर्तजा कॉलोनी में कुछ बदमाश लड़कियों को परेशान कर रहे थे और उन्हें बुर्का पहनने के लिए कह रहे थे। लड़कियों ने हमें बताया कि जब उनके परिवारों को बिना बुर्का के कॉलेज भेजने में कोई समस्या नहीं थी, तो ये लोग इस मामले पर कैसे आपत्ति जता सकते हैं?

एसडीएम ने स्थानीय लोगों के साथ बैठक की और उन्हें अपनी बेटियों को कॉलेज भेजने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा, शुरुआत में हमने आरोपियों को सिर्फ चेताया है, लेकिन अगर उन्होंने अपना रवैया नहीं बदला तो हम मामले में प्राथमिकी दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार करेंगे। समुदाय के स्थानीय निवासियों और धार्मिक प्रमुखों ने एसडीएम और पुलिस को आश्वासन दिया है कि उत्पीड़न की घटना को नहीं दोहराया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper