बुलंदशहर हिंसा: सुमित के परिजन बोले-पुलिस की गोली से हुई मौत, अब तक दर्ज नहीं हुआ मुकदमा

मेरठ: बुलंदशहर हिंसा में मारे गए युवक सुमित के शव का मंगलवार को मेरठ मेडिकल काॅलेज स्थित पोस्टमार्टम हाउस में अन्त्य परीक्षण हुआ। इस दौरान सुमित के परिजनों ने कहा कि उसकी मौत पुलिस की गोली से हुई है लेकिन पुलिस ने अभी तक सुमित के हत्यारों पर मुकदमा दर्ज नहीं किया है। पोस्टमार्टम के बाद सुमित के शव को एसपी सिटी की निगरानी में बुलंदशहर स्थित उसके गांव चिंगरावठी के लिए रवाना कर दिया गया।

बुलंदशहर के स्याना क्षेत्र में सोमवार को हुए बवाल में मारे गए छात्र सुमित के परिजनों ने कहा कि वह लखावटी के अमर सिंह डिग्री काॅलेज में बीए प्रथम वर्ष का छात्र था और वह शादी का कार्ड देने आए अपने दोस्त अरविंद को छोड़ने के लिए बस अड्डे पर गया था। इसी दौरान गोली उसके सीने में जा लगी। अगर बवाल के बारे में पता होता तो वह उसे बस अड्डे पर नहीं जाने देते।

सुमित के पिता अमरजीत सिंह ने रोते हुए बताया कि उसकी मौत पुलिस की गोली लगने से हुई है। पुलिस ने अभी तक सुमित के हत्यारों पर मुकदमा तक दर्ज नहीं किया है। सुमित अपने छह भाई-बहन में सबसे छोटा था। सुमित की चार बहन और एक भाई है। चार बहनों की शादी हो चुकी है, जबकि भाई विनीत बीए फाइनल वर्ष का छात्र है।

सुमित के शव के पोस्टमार्टम के समय वहां पर भारी पुलिस बल तैनात था। परिजनों ने आर्थिक मदद और सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग उठाई। इसके बाद एसपी सिटी रणविजय सिंह की निगरानी में शव को उसके पैतृक गांव चिंगरावठी भेज दिया गया जहां पर उसका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper