बुलन्दशहर में गोकशी से मुख्यमंत्री नाराज,घटना को बताया बड़ी साजिश

लखनऊ ब्यूरो। बुलन्दशहर की घटना को बड़ी साजिश का हिस्सा बताकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विशेष जांच दल एसआईटी की रिपोर्ट आते ही किसी बड़ी कार्रवाई के संकेत दे दिये हैं।

योगी ने अधिकारियों की बैठक में कहा कि बुलन्दशहर की घटना किसी बड़े साजिश की ओर संकेत करती है। मुख्यमंत्री ने मारे गए युवक सुमित के परिजनों को 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की। उन्होंने गोकशी के आरोपियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए ।

बुलन्दशहर की घटना की एसआइटी की रिपोर्ट बुद्धवार को आने की सम्म्भावना है,माना जा रहा है कि रिपोर्ट आने पर मुख्यमंत्री बडी कार्रवाई कर सकते हैंँ।

अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था पर कल मध्यरात्रि के बाद त​क चली बैठक में उन्होंने कहा कि उनकी सरकार बनने के बाद अवैध बूचड़खानों को बंद कराने के आदेश दिये गये थे तो बुलन्दश​हर में कैसे गोकशी हो गयी। मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को इस पर सख्ती बरतने के आदेश दिये। ऐसा अभियान चलाया जाए, जिससे माहौल खराब करने वाले बेनकाब हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बुलन्दशहर की घटना में संलिप्त सभी आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी के निर्देश दिए। इस मौके पर मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय, अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी, प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार, पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह, अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था आनंद कुमार और पुलिस महानिदेशक इंटेलीजेंस भवेश कुमार भी मौजूद थे।

उधर, पुलिस के अनुसार मामले में 27 लोगों को नामजद किया गया है। इन पर 17 धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। गोकशी मामले में शिकायतकर्ता योगेश राज हिंसा को मुख्य आरोपी बताया जा रहा है। वह फरार है। 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper