बेहतरीन चुटकुले: इन लेटेस्ट जोक्स को पढ़कर आप पेट पकड़ के घंटों हँसते रहोगे

जोक्स भी बड़ी अजीब चीज होती हैं. ये आपके बुरे से बुरे मूड को भी चुटकी बजाते ही ठीक करने की ताकत रखते हैं. आपकी लाइफ में चाहे जितनी भी दुःख तकलीफें क्यों ना हो ये आप किसी ना किसी तरह हंसा ही देते हैं. यही वजह हैं कि सारी दुनियां में ये जोक्स बड़े पॉपुलर रहते हैं. लोग इन्हें अक्सर अपने दोस्तों को सुनाते हैं या डिजिटल माध्यम से शेयर करते हैं. जोक्स में भी कई तरह की वेराइटी होती हैं. टीचर स्टूडेंट, हस्बैंड वाइफ, सास बहू, बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड, फ्रेंडशिप इत्यादि.

यदि आप इन्टरनेट भी खंगालोगे तो आपको वहां लाखों की संख्या में जोक्स देखने को मिल जाएंगे. ऐसे में कई बार आपको समझ नहीं आता हैं कि किस जोक को पढ़ा जाए और किसे नहीं. यदि कोई जोक बेकार निकला तो आपका काफी टाइम भी बर्बाद होता हैं. इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम ख़ास आपके लिए कुछ ख़ास जोक्स सिलेक्ट कर के लाए हैं. जब आप इन जोक्स को पड़ेंगे तो हँसे बिना रह नहीं पाएंगे.

इन जोक्स की खास बात ये हैं कि इन्हें लगभग हर केटेगरी से सिलेक्ट किया गया हैं. ऐसे में आप हर प्रकार के जोक्स का मजा एक ही स्थान पर ले सकते हैं. तो चलिए अब बिना किसी देरी के इन जोक्स पर एक नज़र डालते हैं…

1.
पतिदेव बेडरूम मे बैठा लेपटाप पर काम रहे थे. पास ही बेड पर आराम से लेटी हुए पत्नी मोबाइल में बिजी थी.
अचानक पति के मोबाइल पर व्हाटसअप मैसज की रिंग टोन बजी, जो कि फ्रीज़ के ऊपर चार्जिगं पर लगा था.
पति झपट🏃🏻 कर मोबाइल के पास पहुंचा और चेक किया तो उस पर पत्नी का मैसेज आया था.
“आते हुए फ्रिज मे से पानी की बोतल उठाते लाना”
तुम्हारी अपनी 😛😛😂😂
क़सम से एक बार तो रोना ही आ गया.

2.
टीचर: एक तरफ पैसा, दुसरी तरफ अक्कल, क्या चुनोगे ?
स्टूडेंट: पैसा. टीचर: गलत, मै अक्कल चुनती.
विद्यार्थीः आप सही कह रही हो मेडम, जिसके पास जिस चीज की कमी होती है वो वही चुनता है.
दे थप्पड़ दे थप्पड़ 😀 😛

3.
अध्यापक ने कक्षा में पूछा:
सीनियर और जूनियर में क्या अंतर है?
केवल हमारे पप्पू ने हाथ खड़ा किया..
शिक्षक ने कहा: शाब्बास बीटा, बताओ?
पप्पू: सर, जो समुद्र के पास रहता हो वो सीनियर (see-near),
और जो चिड़ियाघर के पास रहता हो वो जूनियर (zoo-near)!


4.
डॉक्टर :-तबियत कैसी है..? मरीज़ :-पहले से ज्यादा खराब है…
डॉक्टर :-दवाई खा ली थी.?
मरीज़ :-खाली नहीं थी भरी हुई थी…
डॉक्टर :- मेरा मतलब है दवाई ले ली थी.?
मरीज़ :-जी आप ही से तो ली थी…
डाक्टर :-बेवक़ूफ़ !! दवाई पी ली थी.?
मरीज़ :-नहीं जी,, दवाई नीली थी…
डॉक्टर :-अबे गधे !! दवाई को पी लिया था.?
मरीज़ :-नहीं जी,, पीलिया तो मुझे था…
डॉक्टर :-उल्लू के पट्ठे !! दवाई को खोल के मुँह में रख लिया था.?
मरीज़ :-नहीं आप ही ने तो कहा था कि फ्रिज में रखना…..
डॉक्टर :-अबे क्या मार खायेगा..? मरीज़ :-नहीं दवाई खाऊंगा…
डॉक्टर :-निकल साले, तू पागल कर देगा…
मरीज़ :-जा रहा हूँ, फिर कब आऊँ..? डॉक्टर :-मरने के बाद…
मरीज़ :-मरने के कितने दिन बाद.? डॉक्टर बेहोश.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper