बैंकों के टोल फ्री नंबरों पर फोन करने से पहले इन बातों का रखें विशेष ध्यान

रांची: बैंकों की वेबसाइटों पर मौजूद टोल फ्री नंबर और संबंधित व्यक्तियों के नामों के साथ दर्ज नंबरों पर कॉल करने से पहले अच्छी तरह से पड़ताल कर लें। कहीं ऐसा न हो कि ये नंबर साइबर अपराधियों ने हैक कर लिए हों और इनके जरिए वे आपकी गाढ़ी कमाई पर हाथ साफ कर दें। इन दिनों बड़ी संख्या में ऐसे साइबर ठगी के मामले सामने आ रहे हैं, जिनमें बैंकों की वेबसाइटों पर दर्ज नंबरों पर कॉल करने पर उधर से नेटवर्क व्यस्त होने या सर्वर डाउन होने की बात कहकर बाद में कॉल करने की बात कहकर माफी मांगी जाती है। लेकिन इसके कुछ देर बाद या अगले दिन किसी अन्य नंबर से कॉल कर लोगों से ठगी कर ली गई।

इसमें बैंक कॉल सेंटर के कर्मचारियों की संलिप्तता सामने आ रही है। इन कर्मचारियों से मिले साइबर अपराधी इतने शातिराना अंदाज में फोन कर बात करते हैं कि पहले तो यह अहसास ही नहीं होता कि कॉल बैंक से नहीं, किसी ठग द्वारा की गई है। बातों ही बातों में बैंकों की सेवाओं से जुड़ी सहायता करने के नाम पर कॉल करने वाले लोगों से डेबिट-क्रेडिट कार्ड के नंबर, एक्सपायरी डेट, सीवीवी नंबर और वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) तक जान लेते हैं। इस दौरान मोबाइल पर मैसेज भी बैंक द्वारा भेजे जाने वाले मैसेज के समान ही आते दिखते हैं।

साइबर अपराधी खाली कर सकते हैं खाता

लोगों को सच्चाई का पता तब चलता है, जब उनके खाते से पैसे कट जाते हैं। ऐसे में यह संदेह होना स्वाभाविक है कि कहीं बैंकों के कॉल सेंटरों में कार्यरत कर्मचारी ही तो इस खेल के सूत्रधार नहीं हैं। रांची में ऐसा ही एक मामला बीते दिनों सामने आने के बाद साइबर पुलिस के होश उड़ गए। कोकर में रहने वाले अशोक कुमार ने एसबीआई की वेबसाइट में दिख रहे टोल फ्री नंबर पर कॉल कर जानकारी मांगी, तो कुछ ही देर में दूसरे नंबर से कॉल आया।

इसके बाद उनसे क्रेडिट कार्ड नंबर, पिन, सीवीवी समेत अन्य जानकारियां मांगकर उनके खाते से लाखों रुपए उड़ा लिए गए। यह मामला पुलिस के पास पहुंचा, लेकिन पुलिस संबंधित साइबर अपराधियों को पकड़ पाने में विफल है। संबंधित नंबरों को सर्विलांस पर रखा गया है, लेकिन पुलिस के सिस्टम से वे पकड़ में ही नहीं आ रहे हैं। रांची समेत झारखंड के अन्य जिलों में भी ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper