‘बॉलीवुड के ‘संस्कारी बाबू’ करते हैं महिलाओं का उत्पीड़न’

मुंबई: अभिनेत्री दीपिका अमीन ने दावा किया है कि हिंदी फिल्म और टेलीविजन उद्योग में आलोक नाथ की शराबी और महिलाओं का उत्पीड़न करने वाली छवि से हर कोई वाकिफ है। हाल ही में आलोकनाथ के साथ फिल्म सोनू के टीटू की स्वीटी में काम करने वाली अमीन ने कहा कुछ साल पहले जब वे एक टेलीफिल्म के लिये आउटडोर शूटिंग कर रहे थे तो अभिनेता ने उनके कमरे में घुसने की कोशिश की।

उन्होंने मंगलवार को फेसबुक पर लिखा, इंडस्ट्री में हर कोई जानता है कि आलोकनाथ एक अप्रिय शराबी हैं जो महिलाओं का उत्पीड़न करते हैं। वर्षों पहले एक टेलीफिल्म की आउटडोर शूटिंग के दौरान उन्होंने मेरे कमरे में घुसने की कोशिश की। महिलाओं को देखकर उनकी लार टपकती है, शराब पीते हैं और फिर हंगामा करते हैं। उन्होंने लिखा, यूनिट मेरे साथ खड़ी हो गई और यह सुनिश्चित किया कि मैं सुरक्षित रहूं। मैं उस वक्त काफी युवा थी लेकिन मुझे अब भी याद है कि वह कितने भयावह थे।

बड़ी गिरावट के बाद शेयर बाजार में रौनक लौटी, सेंसेक्स में 600 अंक की तेजी

अमीन ने हालांकि कहा कि सोनू के टीटू की स्वीटी के फिल्मांकन के दौरान वह शांत और नरम रहे। हो सकता है वह बदल गए हों? हो सकता है निर्देशक लव रंजन ने यह स्पष्ट कर दिया हो कि वह बुरा व्यवहार बर्दाश्त नहीं करेंगे।अभिनेत्री ने कहा कि तारा की लेखिका और निर्माता विन्ता नंदा के अपनी आपबीती के साथ सामने आने के बाद, वह अपना अनुभव साझा करने के लिये प्रेरित हुईं। अमीन ने लिखा, लेकिन विन्ता नंदा का दिल झकझोरने वाला अनुभव पढ़ने के बाद मैंने महसूस किया कि मुझे उनका समर्थन करना चाहिए।

महिलाओं पर विास कीजिए। अपनी बात कहकर उनके पास खोने के लिये सबकुछ है। अभिनेत्री संध्या मृदुल ने एक टेलीफिल्म की शूटिंग के दौरान आलोक नाथ के द्वारा किये गए कथित यौन उत्पीड़न का बुधवार को जिक्र किया था।उन्होंने आरोप लगाया कि नाथ ने नशे की हालत में उनके कमरे में घुसने की कोशिश की। संध्या ने कहा कि उन्होंने दरवाजा बंद करने की कोशिश की लेकिन नाथ ने धक्का दिया और मेरी तरफ आने लगे.. उन्होंने चिल्लाना शुरू कर दिया कि मैं तुम्हें चाहता हूं, तुम मेरी हो..।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper