ब्रिटेन में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्ती करेगी पुलिस, मास्क नहीं लगाने पर भी जुर्माना

Features on August 25, 2020. Photo by Mark Cornelison | UKphoto

लंदन: ब्रिटेन की पुलिस कोरोना वायरस के नए स्वरूप के मामलों के मद्देनजर देश में लागू लॉकडाउन का पालन सुनिश्चित करने के लिए सख्ती बरतेगी और नियम का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ जुर्माना लगाया जाएगा। ब्रिटेन की पुलिस ने लोगों से अपील की है कि वे नियमों का पूरी तरह पालन करें। ‘स्कॉटलैंड यार्ड’ ने कहा कि जो लोग प्रतिबंधों का उल्लंघन करेंगे, उन पर 200 पाउंड से 10,000 पाउंड तक जुर्माना लगाया जा सकता है। मेट्रोपोलिटन पुलिस ने कहा, ”इसका अर्थ यह होगा कि पार्टी का आयोजन करने वालों, बिना अनुमति के संगीत समारोहों या अवैध सभाओं के आयोजकों ही नहीं, बल्कि उनमें शामिल होने वाले लोगों पर भी जुर्माना लग सकता है।”

पुलिस ने कहा कि इसके अलावा मास्क नहीं लगाने पर भी जुर्माना लग सकता है। मेट्रोपोलिटन पुलिस ने इस सप्ताह लंदन में एकत्र होने की योजना बना रहे प्रदर्शनकारियों को भी आगाह किया है कि वह लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर कार्रवाई करेगी। कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए मेट्रोपोलिटन पुलिस की कार्रवाई का नेतृत्व कर रहे उप सहायक आयुक्त मैट ट्विस्ट ने कहा, ”पुलिस अधिकारी के तौर पर हमारा पहला कर्तव्य जीवन की रक्षा करना है।” उन्होंने कहा कि यदि लोग नियमों को तोड़ना जारी रखते हैं तथा स्वयं को, अपने परिवार को और अपने समुदायों को खतरे में डालते हैं, तो पुलिस अधिकारी कड़ी कार्रवाई के लिए तैयार हैं।

‘पुलिस फेडरेशन ऑफ इंग्लैंड एंड वेल्स’ ने भी लोगों से अपील की है कि वे लॉकडाउन लागू होने के मद्देनजर नियमों का पालन करें। कोरोना वायरस के नए स्वरूप के कारण संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और इसे देखते हुए ब्रिटेन ने सख्त लॉकडाउन लागू किया है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा था, ”हमारे वैज्ञानिकों ने पुष्टि की है कि वायरस का नया स्वरूप 50 से 70 प्रतिशत तक ज्यादा संक्रामक है… इसका अर्थ है कि इससे आपके संक्रमित होने और दूसरों को संक्रमित करने की आशंका बहुत-बहुत ज्यादा है।”

उन्होंने कहा था, ”हमें राष्ट्रव्यापी सख्त लॉकडाउन लागू करना होगा ताकि वायरस के नए स्वरूप के मामलों को नियंत्रित कर सकें। इसका अर्थ है कि सरकार एक बार फिर आपको घर के भीतर रहने का निर्देश दे रही है। आप अनुमति के तहत सिर्फ कुछ ही कारणों से घर से बाहर निकल सकते हैं। जैसे कि जरुरी चीजों की खरीदारी के लिए, अगर आप घर से बिल्कुल काम नहीं कर पा रहे हों तो दफ्तर जाने के लिए, इलाज या जांच के लिए या फिर घरेलू हिंसा से बचने के लिए बाहर जा सकते हैं।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper