ब्वॉयफ्रेंड से फोन पर बात कर रही थी बेटी, गुस्साए बाप ने जिंदा जलाया

मुंबई: मुंबई में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। विरार में एक पिता ने अपनी 16 वर्षीय बेटी को कैरोसीन का तेल डालकर जिंदा जला दिया। जानकारी के अनुसार मामला सोमवार दोपहर का है। पिता ने अपनी बेटी को इसलिए आग के हवाले कर दिया कि उसकी बेटी कथित तौर पर ब्वॉयफ्रेंड के साथ फोन पर बात कर रही थी। आग में जलने के बाद लड़की की हालत नाजुक है। वह 70 फीसदी जल चुकी है। पारेल के केईएम अस्पताल में उसका उपचार जारी है।

पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए लड़की के पिता के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी को वसाई कोर्ट ने कस्टडी में भेज दिया है। आरोपी ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि उसकी बेटी घंटों फोन पर बात करती रहती थी और कभी नहीं बताती थी कि किससे बात कर रही है।

मामले की जानकारी देते हुए सीनियर पीआई घनशयाम आढाव ने बताया कि नूर मंजिल निवासी मोहमद मुर्तिजा मंसूरी (35) अपने परिवार के साथ रहता है। सोमवार दोपहर 2 बजे मंसूरी की बेटी शाहिस्ता मोबाइल पर किसी से बात कर रही थी। पिता को संदेह हुआ कि वह किसी युवक से बात कर रही है। उन्होंने उससे फोन रखने को कहा लेकिन वह बात करती रही। उसके पिता को लगा कि उसका अफेयर चल रहा है। इसके बाद पिता ने बेटी के हाथ से फोन छीनकर नीचे फेंक दिया और उसे पीटते हुुए पूछा कि उसके पास फोन कहां से आया।

इसके बाद जब पीड़िता ने कमरे से बाहर निकलने की कोशिश की तो पिता उसे रसोई में ले गए। पिता ने गुस्से में लड़की पर केरोसीन का डिब्बा उड़ेल दिया और आग लगा दी। हादसे में बेटी बुरी तरह झुलस गई। स्थानीय लोगों की मदद से उसे पश्चिम के संजीवनी अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन 70 प्रतिशत झुलस जाने पर उसे मुंबई स्थित केईएम अस्पताल में भेज दिया गया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper