‘भगवान राम ने पहली दिवाली कहां मनाई थी’, जानिए IAS में पूछे जाने वाले सवालों के जवाब

संघ लोक सेवा आयोग की सिविल परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में शुमार है. अगर कोई व्यक्ति इस परीक्षा को पास कर लेता है तो वो अलग ही श्रेणी में रखा जाता है, हालांकि परीक्षा पास करने के बाद एक और पार्ट होता है साक्षात्कार.
जिसमें पूछे गए सवालों में लोगों का सर चकरा जाता है. आईएएस इंटरव्यू में उम्मीदवारों से जो भी सवाल पूछे जाते हैं हालांकि उनका उत्तर तो बेहद सरल होता है लेकिन सवालों को काफी घुमा फिराकर पूछा जाता है. साक्षात्कार करने वाला पैनल उम्मीदवार को बहुत से काल्पनिक स्थितियां देकर उलजाने का प्रयास करता है. उनका केवल यही मकसद होता है कि प्रतियोगी किस तरह से जवाब देता है.
सवालः एक इंसान 8 दिन बिना नींद के कैसे रह सकता है
जवाबः इस सवाल को काफी घूमा-फिरा के पूछा गया अगर देखा जाए तो सवाल का बेहद सरल जवाब है इसका सही जवाब है कि वह आदमी रात में सोता है.
सवालः लड़की के शरीर में ऐसा कौन हिस्सा होता है. जिसको खाया जा सकता है.
जवाबः इस सवाल को पढ़ने के बाद ज्यादातर लोग सोच विचार में पड़ गए होंगे. आपके मन में यही सवाल आ रहा होगा कि भला लड़की के शरीर के कौन से भाग को खाया जा सकता है तो चलिए हम आपको इसका जवाब देते हैं लेडी फिंगर यानी भिंडी.
सवालः वह कौन सा काम है जो पूरी दुनिया सिर्फ रात में ही करती है?
जवाबः इस सवाल का जवाब बेहद सरल है नींद लेना या फिर सोने का काम, जो कि रात के समय पूरी दुनिया करती है.
सवाल पीकाक एक पक्षी है परंतु वह अंडे नहीं देता फिर भी उसके बच्चे कहां से आते हैं?
जवाबः इस सवाल की सही जवाब है पीकॅाक कभी भी अंडे नहीं देता है अंडे पीहैन देती है और उसके अंडे से ही बच्चे आते हैं.
सवालः अगर मैं आपकी बहन के साथ भाग जाऊं तो आप क्या करेंगे.
जवाबः इस सवाल को पढ़ने के बाद ज्यदातर लोगों के मन में इधर-उधर के विचार आ रहे होंगे. लेकिन इस सवाल का सही जवाब है कि मुझे बहुत खूशी होगी क्योंकि मैं अपनी बहन के लिए आप से बेहतर जीवन साथी ढूढ़ ही नहीं सकता. इस सवाल को पूछे जाने पर तर्क है कि उम्मीदवार की सोच कितनी सकारात्मक है.
सवालः भगवान राम ने अपनी पहली दिवाली कहां मनाई थी.
जवाबः अधिकतर लोगों का यही जवाब होगा कि श्री राम जी ने दिवाली अयोध्या में मनाई थी लेकिन आपका ये जवाब गलत है. गौरलतब है कि दिवाली के त्यौहार को श्रीराम के बाद शुरु किया था इसलिए भगवान श्रीराम ने दिवाली नहीं मनाई थी.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper