भाग्यशाली होता है वो लोग जिसकी अनामिका उंगली होती है ऐसी

हथेली की रेखाओं के अलावा उंगलियों की बनावट से भी भविष्य जाना जा सकता है। आइए जानते हैं उंगलियों की बनावट के क्या मायने होते हैं। अपनी हथेली को फैलाकर देखने पर यह देखें कि उंगलियां किस अवस्था में हैं। यदि सभी अंगुलियां अलग-अलग हैं तो इसका अर्थ है कि हर पर्वत संतुलित अवस्था में है। इसका अर्थ है, ग्रहों की स्थिति कुल मिलाकर अनुकूल है जो आपके लिए शुभ फलदायक है।

  1. यदि सभी उंगलियां एक दूसरे की ओर झुकी हैं तब ऐसा व्यक्ति लचीले स्वभाव का होता है। यदि सभी उंगलियों का झुकाव मध्यमा की ओर है तो उनमें शनि पर्वत के गुण तथा विशेषताएं बढ़ जाती है।
  2. अनामिका उंगली सीधी और लंबी होने पर व्यक्ति धन कमाने के मामले में काफी भाग्यशाली रहता है।
  3. जिस व्यक्ति की तर्जनी अंगुली का झुकाव अंगूठे की ओर होता है उनमें अहंकार का भाव कम होता है। मध्यमा की ओर इस उंगली का झुकाव होने पर व्यक्ति खुले मिजाज का होता है।
  4. मध्यमा उंगली का झुकाव तर्जनी की ओर होने पर व्यक्ति गंभीर स्वभाव का होता है। ऐसा व्यक्ति कोई भी काम बहुत ही सोच विचार कर करते हैं। ऐसे व्यक्ति में अहंकार की भावना कम रहती है।
  5. जिस व्यक्ति की छोटी उंगली का झुकाव अनामिका उंगली की ओर होता है वह स्वार्थी स्वभाव का होता है। वहीं छोटी उंगली का झुकाव हथेली के बाहर की ओर हो तो यह लापरवाह स्वभाव की ओर इशारा करता है।
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper