भाजपा के दो उम्मीदवारों ने वापस लिया नामांकन, बसपा को जीत के लिए करनी होगी कड़ी मशक्कत

लखनऊ। यूपी की राज्यसभा चुनाव में गुरुवार को भाजपा के दो उम्मीदवार विद्यासागर सोनकर और सलिल विश्नोई ने नाम वापस ले लिया है। राज्यसभा चुनाव में नाम वापस लेने का गुरुवार को आखिरी दिन था। अब 11 उम्मीदवार मैदान में हैं।

उल्लेखनीय है कि भाजपा के 11 उम्मीदवारों ने नामाकंन किया था। इनमें से अनिल अग्रवाल अभी भी मैदान में हैं। भाजपा के अब 9 उम्मीदवार चुनावी मैदान में है। राज्यसभा के 10 सीटों के लिए 19 उम्मीदवार मैदान में आने से अब वोट पडऩा तय है। भाजपा के विधायकों के संख्या के आधार पर 8 और सपा 1 उम्मीदवार की जीत तय है। भाजपा द्वारा 9वां प्रत्याशी अनिल अग्रवाल को मैदान में उतार देने से बसपा की गणित गड़बडा गयी है।

राज्यसभा की एक सीट के लिए किसी भी पार्टी के पास 37 विधायक होने जरूरी हैं। भाजपा के पास 324 विधायक हैं। समाजवादी पार्टी के पास 47 विधायक हैं। इस हिसाब से एसपी का एक ही कैंडिडेट राज्यसभा में जा सकता है। एसपी ने राज्यसभा के लिए जया बच्चन को चुना है। बहुजन समाज पार्टी के पास 19 विधायक हैं। पार्टी ने भीम राव आंबेडकर को मैदान में उतारा है। जीत के लिए 37 विधायकों का समर्थन चाहिए। अम्बेडकर को राज्यसभा भेजने के लिए बीएसपी के 19, सपा के 10 कांग्रेस के 7, राष्ट्रीय लोकदल के 1 वोट के सहारे है। अब देखना है कि 23 मार्च को भाजपा के 9वां प्रत्याशी की जीत होती है या बसपा के प्रत्याशी की।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper