भारतीयों को यूक्रेन से द‍िल्‍ली लेकर पहुंची एयर इंडिया, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सभी को दिया गुलाब

यूक्रेन (Ukraine) में फंसे भारतीय नागर‍िकों को सुरक्षित भारत लाने के ल‍िए केंद्र सरकार लगातार प्रयासरत है। इसी कड़ी में यूक्रेन में फंसे 250 भारतीय नागरिकों को लेकर रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट से दूसरी उड़ान आज यानी रविवार तड़के दिल्ली एयरपोर्ट (Delhi Airport) पर उतरी। ऐसे में यहां एयरपोर्ट पर नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य (Jyotiraditya Scindia) सिंधिया ने यूक्रेन से आए लोगों का गुलाब देकर स्वागत किया। आप सभी को बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की के साथ बातचीत में भारतीय नागरिकों की सुरक्षित वापसी का मुद्दा उठाया था। आपको बता दें कि इससे पहले पहली उड़ान बुखारेस्ट से 219 लोगों को लेकर मुंबई आई थी।

वहीं दूसरी तरफ विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने बताया कि ‘ऑपरेशन गंगा’ के तहत आज यानी रव‍िवार को बुखारेस्ट से 250 भारतीयों को लेकर दूसरी उड़ान द‍िल्‍ली पहुंची। वहीं इन दो उड़ान के बाद अब बुडापेस्ट से तीसरी उड़ान के भी रविवार को आने की संभावना है। इस समय यह सूचना मिली है कि यूक्रेन में भारतीय अधिकारियों को अपने लोगों को पड़ोसी देशों में ले जाने में कई जटिलताओं का सामना करना पड़ रहा है। आपको बता दें कि यूक्रेन में फिलहाल करीब 16,000 भारतीय फंसे हुए हैं।

वहीं बात करें सिंधिया की तो उन्होंने दिल्ली एयरपोर्ट पर भारतीय नागरिकों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि ”भारत में हर एक नागरिक घर वापस आ गया है। कृपया अपने सभी दोस्तों और सहयोगियों को यह संदेश भेजें कि हम उनके साथ हैं और उनकी सुरक्षित वापसी की गारंटी देंगे।” आगे उन्‍होंने कहा, ‘पीएम मोदी यूक्रेनी और रूसी राष्ट्रपति के संपर्क में हैं, यह सुनिश्चित करने के लिए बातचीत जारी है कि सभी को सुरक्षित घर लाया जाए। भारत में आपकी सुरक्षित वापसी के लिए मैं एयर इंडिया का तहे दिल से आभारी हूं। जय हिन्द।’

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper