भारतीय बहू के लिए नागरिकता के नियम बदलने की तैयारी में नेपाल

काठमांडू: दुनियाभर में शादी के बाद पति का घर ही दुल्हन का घर हो जाता है। हालांकि अब बहू बनकर नेपाल जाने वाली भारतीय बेटियों को वहां की नागरिकता के लिए सात साल इंतजार करना होगा। भारत से चल रहे सीमा विवाद के बीच शनिवार को नेपाल की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक में नागरिकता नियमों में बदलाव का निर्णय लिया गया है।

नेपाली गृहमंत्री राम बहादुर थापा ने बताया, नियम में बदलाव का प्रस्ताव भारत को ध्यान में रखकर है। बदलाव के तहत जब कोई भारतीय लड़की नेपाली युवक से शादी करेगी तो उसे उसके साथ सात वर्ष लगातार रहने के बाद ही नेपाल की नागरिकता मिलेगी।

बीते हफ्ते नेपाल में बिहार की एक बेटी से मिलने जाते वक्त सीतामढ़ी सीमा पर नेपाली जवानों की भारतीयों से झड़प हो गई थी। इसमें दो भारतीयों की जान भी गई थी। जबकि लड़की के रिश्तेदार को नेपाल पुलिस ने 24 घंटे हिरासत में रखा था। नेपाली गृहमंत्री ने यह दावा तो कर दिया कि भारत विदेश महिला को शादी के सात साल बाद नागरिकता देता है। हालांकि हकीकत यह है कि नेपाल से आने वाली बहू पर भारत में यह नियम लागू नहीं है। धार्मिक और सांस्कृतिक तौर पर एक-दूसरे से जुड़े भारत-नेपाल का द्विपक्षीय रिश्ता सदियों पुराना है।

इस नियम में कुछ अलग नहीं किया है। भारत भी विदेशी लड़कियों को किसी भारतीय से शादी के सात साल बाद ही नागरिकता देता है। हमारा प्रस्ताव भी इसी आधार पर है। – राम बहादुर थापा, गृहमंत्री, नेपाल

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper