भारत में स्थित हैं कई रहस्यमयी फोर्ट्स, हर किले की है अपनी एक अलग कहानी !

प्राचीन काल से लेकर मध्यकाल और आधुनिक भारत के कुछ समय तक भारत हमेशा से अद्भुत महल, इमारत और फोर्ट्स के निर्माण के लिए जाना जाता रहा है। भारत के इस धरती पर ऐसे कई महान राजाओं और रानियों का जन्म हुआ, जिन्होंने अपने शासनकाल में एक से बढ़कर एक खूबसूरत और रहस्यमयी फोर्ट्स का निर्माण करवाया। इनमें से कुछ इमारत आज भी लाखों पर्यटकों के लिए सबसे अधिक आकर्षण का केंद्र है, तो कुछ फोर्ट्स आज भी लाखों सैलानियों और आम लोगों के लिए एक रहस्यमयी फोर्ट्स बने हुए हैं, और इन फोर्ट्स में कई डरावनी कहानियां भी छिपी हुई है। इन फोर्ट्स में आज भी सैलानी दिन के उजाले में भी घूमने से डरते हैं। आज इस लेख में हम आपको भारत के कुछ ऐसे फोर्ट्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जो भारत के सबसे रहस्यमयी फोर्ट्स समझे जाते हैं। आइए जानते हैं।

गढ़कुंडार का किला 

लगभग 11 वीं शताब्दी में निर्मित यह फोर्ट उत्तर प्रदेश के झांसी से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कहा जाता है कि यह फोर्ट पांच मंजिला है, जिसका दो मंजिल जमीन के अंदर बनाया गया है। कहा जाता है कि दूर से यह किला बेहद ही अद्भुत दिखाई देता है लेकिन, पास आते ही ऐसा लगता है जैसे इसके अंदर जाने के लिए कोई दरवाजा ही नहीं है। कहा जाता है कि काफी समय पहले कुछ बाराती इस महल में घूमने के लिए अंदर गए थे लेकिन, सभी अचानक से गायब हो गए और आज तक उनका पता नहीं चला। कहा जाता है इस घटना के बाद किले के नीचे जाने के सभी रास्ते बंद कर दिए गए।

भानगढ़ किला 

राजस्थान के अलवर जिले में स्थित भानगढ़ किला राजस्थान का सबसे बड़ा रहस्यमयी किला बोला जाता है। अरावली पर्वत पर निर्माण इस किले को देखते ही लगता है कि यह किसी रहस्यमयी जगह और किले से कम नहीं है। कहा जाता है कि यहां कई बार ऐसी कई घटनाएं घटी हैं, जिसकी वजह से इस किले में कोई भी इंसान अकेले जाने से डरता है। कहा जाता है कि शाम के बाद पर्यटकों के लिए इस किले में जाने पर रोक लगा दिया गया है। यह किला कई भूतियाँ किस्सों की वजह से भी आसपास के इलाके में फेमस है।

रोहतासगढ़ किला 

बिहार के रोहताश जिले में स्थित रोहतासगढ़ किला को भारत के साथ-साथ बिहार का भी सबसे प्राचीन और रहस्यमयी किला समझा जाता है। कहा जाता है कि इस किले का निर्माण युद्द के दौरान छिपने के लिए किया गया था। उस उस समय इस फोर्ट में छिपने के लिए कई रहस्यमयी कमरे और भवन का निर्माण कराया गया जहां जाने से आज कोई भी डरता है। स्थानीय लोगों का इस किले को लेकर मानना है कि रात को इस किले से जोर-जोर से चीखने की आवाजें सुने देती है। कई लोग तो दिन के उजाले में भी अकेले इस किले में जाने से डरते हैं और दिन ढलते ही इसके आसपास जाने से भी डरते हैं।

गोलकोंडा किला 

हैदराबाद में जिस तरह से चार मीनार फेमस है, उसी तरह से हैदराबाद में सबसे रहस्यमयी फोर्ट में गोलकोंडा किला शामिल है। लगभग 13 वीं शताब्दी में निर्माण इस फोर्ट को कई अचरज कर देने वाली घटना के लिए जाना जाता है। स्थानीय लोगों के अनुसार कहा जाता है कि यहां राजा की आत्मा को नृत्य करते देखा गया है। या भी कहा जाता है कि कई शूटिंग ग्रुप्स का भी कहना है कि इस किले से अजीबों-गरीब आवाजें सुनाई देती हैं। यहां आज भी सैलानी ग्रुप में ही घूमने के लिए जाते हैं।

Source:- Herzindagi

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper