भूतिया शहर: चीन में है दुनिया की सबसे बड़ी घोस्ट सिटी !

आपने अक्सर लोगों के मुख से सिर्फ दुनिया की सबसे भूतिया जगह के बारे में ही सुना होगा, आज हम आपको बताते है कि दुनियाभर में ऐसे कई शहर हैं जहां पर दूर-दूर तक आपको सिर्फ सन्नाटा ही नजर आएगा. इन शहरों में आपको सिर्फ खाली घर ही देखने को मिलेंगे और ऐसे ही शहरों को ‘घोस्ट सिटी’ कहा जाता है. घोस्ट सिटी की श्रेणी में आने वाले इन शहरों में आपको घर और सड़कों जैसी सहूलियत तो देखने को मिलेगी मगर कोई इंसान नहीं.

घोस्ट सिटी बनने के कारण (Reason behind Ghost Towns)

किसी शहर के घोस्ट सिटी बनने के कई सारे कारण हैं. जैसे उस जगह पर घरों का महंगा होना या फिर किसी आपाद के कारण उस शहर या गांव का दोबारा ना बस पाना. दुनियाभर में ऐसे काफी शहर हैं जो कि किसी आपदा का शिकार होने के बाद से फिर कभी बस नहीं पाए और सिर्फ एक सुनसान जगह बनकर रह गए.

चीन की घोस्ट सिटी (World Largest Ghost city in China )

ओर्डोस सिटी दुनिया की सबसे बड़ी घोस्ट सिटी है. ओर्डोस सिटी चीन के इनर मंगोलिया रीजन के पास स्थित है. 2009 में इस सिटी के घोस्ट सिटी बनने की खबर सामने आई थी. एक फोटोग्राफर द्वारा इस शहर की खिंची हुई कुछ तस्वीरों में इस शहर में बने हुए घर और सड़के सुनसान दिखाई दी गई थी. जिसके बाद से इसे घोस्ट सिटी कहना शुरू कर दिया गया. वहीं इस शहर की संरचना की बात करें तो चीन के इस शहर में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के स्टेडियम और प्लाजा बनाए गए हैं. लेकिन इसके बावजूद भी इस शहर में केवल 20 हजार लोग ही रहते हैं. इतना ही नहीं यहां पर बने हुए कई घर खाली रहने के चलते टूट-फूट भी गए हैं. इस शहर को 10 लाख लोगों के लिए बनाया गया था.

हालांकि चीन सरकार इस शहर में लोगों को बसाने की कई कोशिशें कर रही है. उम्मीद की जा रही है कि आनेवाले कुछ सालों में इस शहर से घोस्ट सिटी होने का टैग हट जाएगा और ये शहर भी आम शहरों की श्रेणी में आ जाएगा.

ओर्डोस सिटी के घोस्ट सिटी बनने के काराण (Why is china city become ghost city)

ओर्डोस सिटी के विकास के लिए चीन सरकार ने काफी पैसों का निवेश इस शहर पर किया था. यहां बड़ी-बड़ी बिल्डिंग्स भी बनाई गयीं थीं, मगर घरों की ज्यादा कीमतें होने के कारण लोग यहां पर घर खरीद नहीं सके और धीरे-धीरे ये सिटी, घोस्ट सिटी बन गई. लोगों के यहां घर ना खरीदने के चलते इन्वेस्टर्स ने भी इस प्रोजेक्ट से हाथ खींचना शुरू कर दिया, जिसके कारण यहां पर कई निर्माण कार्य पूरे भी नहीं हो पाए.

चीन की चेन्गोंग सिटी, नन्हुइ न्यू सिटी, लानचो और दांतू सिटी भी ओर्डोस सिटी की तरह घोस्ट सिटी हैं. चेन्गोंग सिटी में हाल ही में बनाए नए आवासों में से अधिकांश आवास अभी भी खाली पड़े हैं. हालांकि उम्मीद की जा रही है कि अगले कुछ सालों में यहां पर लोग रहना शुरू कर देंगे.

भारत में भी है घोस्ट सिटी (Ghost City in India)

भारत के तमिलनाडु राज्य में भी एक घोस्ट सिटी मौजूद है, जिसका नाम धनुषकोडी है. धनुषकोडी पम्बन द्वीप के दक्षिणी-पूर्वी कोने में स्थित है. 17 दिसंबर,1964 में रामेश्वरम में आए चक्रवात के दौरान ये शहर पूरी तरह से नष्ट हो गया था, जिसके बाद से ये शहर फिर कभी बस नहीं सका. धनुषकोडी शहर अब बस एक पर्यटक स्थल के नाम से ही जाना जाता है, जहां पर सिर्फ खाली मकान और रेलवे स्टेशन देखने के लिए पर्यटक यहां आते हैं.

दुनिया में कहां–कहां हैं घोस्ट सिटी (LIST OF GHOST CITY/ TOWNS AROUND THE WORLD IN HINDI)
इटली (Italy)– सन् 1963 में आए भूस्खलन के कारण इटली के क्रैको गांव को खाली कर दिया गया था और आजकल इस जगह का इस्तेमाल केवल फिल्मों की शूटिंग तक ही सीमित है.

पेनसिल्वेनिया – सन् 1984 में सेंट्रलिया पेनसिल्वेनिया में माइन में आग लगने के कारण इस शहर को मजबूरी में यहां के स्थानीय लोग ने खाली कर दिया था. जिसके बाद से ये शहर घोस्ट सिटी बन गया.

संयुक्त राज्य अमेरिका की साउथ पास सिटी, कनाडा का बार्कवील्ले शहर, एलिजाबेथ बे, और यूक्रेन में प्रिपैट शहर भी घोस्ट शहरों की श्रेणी में आनेवाले कुछ और शहर हैं. इन शहरों को भी किसी ना किसी कारण से खाली करना पड़ा और अभी तक यहां पर दोबारा से लोगों ने रहना शुरू नहीं किया है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper