मकर संक्रांति के दिन होगा लॉच, भू-माफियाओं को रोकने के लिए विशेष पोर्टल

मुजफ्फरनगर: यूपी के मुजफ्फरनगर में जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. मकर संक्रांति के दिन जिले की भूमि के रिकॉर्ड का पोर्टल लांच करेंगी। इस विशेष पोर्टल में सभी तरह की सरकारी भूमि, मुकदमे संबंधी भूमि, स्कूलों की भूमि का सीमांकन करते हुए अलग अलग रंग में प्रदर्शित किया जाएगा। इस पोर्टल के लांच होने के बाद तालाबों और झीलों की भूमि को धोखा देकर बेचा नहीं जा सकेगा।

जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने बताया कि सरकारी भूमि को कब्जा मुक्त कराए जाने का अभियान प्रत्येक वर्ष चलाया जाता है। जांच में पता चला कि अधिकारी के तबादला होने पर भू माफिया दोबारा भूमि पर कब्जा कर लेते हैं या धोखा देकर किसी को बेच देते हैं बाद में खरीदने वाले को पता चलता है कि यह भूमि सरकारी या सार्वजनिक उपयोग की है। इसलिए पूरे जिले के भूमि रिकार्ड को प्रदर्शित करने वाले पोर्टल और भूमि की लोकेशन दर्शाने वाले विशेष पोर्टल को बनाया जा रहा है। इसे मकर संक्रांति को लांच करने की तैयारी है। इस पर तेजी से काम चल रहा है। इस पोर्टल के लांच होने के बाद सरकारी भूमि की लोकेशन देखी जा सकेगी। गांव के अनुसार भूमि खरीदने वाले देख सकेंगे कि उनकी भूमि कहां पर स्थित है और उसमें सरकारी भूमि तो नही आ रही है।

उन्होंने बताया कि सबकुछ रिकार्ड में आने के बाद भूमाफिया तालाबों और झीलों की भराई करके धोखे से भूमि नही बेच सकेंगे। इससे भूमि विवादों में भी कमी आएगी। इस पोर्टल में शत्रु संपत्ति, निष्क्रांत संपत्ति, लीज की संपत्ति का विवरण भी दिया जाएगा। पोर्टल में सरकारी भूमि अलग रंग से दर्शाई जाएगी जिससे उसके बारे में तत्काल जानकारी मिल सके। उन्होंने बताया कि पोर्टल से जहां सरकारी भूमि पर अधिकारियों के तबादले के बाद भी कब्जा नहीं हो पाएगा, वहीं आम आदमी भी धोखे से बचेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper