मणिपुर में 100 से अधिक लड़कियां तस्करों के चंगुल से मुक्त

इम्फ़ाल: मणिपुर पुलिस और सामाजिक कार्यकताओं ने राज्य में दिन भर चले अभियान के दौरान तस्करों के चंगुल से 100 से अधिक लड़कियों को बचाया और छह संदिग्ध मानव तस्करों को हिरासत में लिया।

पुलिस सीमावर्ती क्षेत्रों में लोगों की आवाजाही पर अब भी लगातार निगरानी रख रही है। मणिपुर पुलिस ने नेपाल और राज्य के कार्यकर्ताओं द्वारा सतर्क किये जाने के बाद शुक्रवार को मोरेह सीमा पर एकीकृत जांच चौकी पर 16 लड़कियों को तस्करों से मुक्त कराया। मोरेह में होटलों में छापे मारे गये और करीब 40 लड़कियों को बचाया गया। पुलिस ने पूरे दिन अभियान चलाया और इंफाल के ‘होटल जंक्शन’ से अन्य 61 लड़कियों को तस्करों के चंगुल से छुड़ाया।

संदिग्ध तस्करों को इम्फाल और मोरेह के विभिन्न होटलों में पकड़ा गया। पुलिस ने संदेह जताया है कि इनका इस्तेमाल पड़ोसी देशों में अवैध गतिविधियों के लिए किया जाना था। टेंगनौपाल पुलिस ने बताया कि नेपाल के सनौली शहर के राजीव शर्मा पर उन लड़कियों को मणिपुर भेजने का संदेह है।

अभियान में शामिल मणिपुर एलायंस फॉर चाइल्ड राइट्स (एमएसीआर) के संयोजक मोंटू अहनथेम ने बताया कि मणिपुर के कार्यकर्ताओं ने मामले के बारे में सतर्क किया था। मणिपुर के कार्यकर्ता नेपाल स्थित गैर सरकारी संगठन मैती से संपर्क में थे। सभी लड़कियों को उज्जवला आश्रय गृह में रखा गया है और उन्हें औपचारिकता पूरी करने के बाद उनके देश भेज दिया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper