मतगणना से पहले अखिलेश ने लगाया EVM में धांधली का आरोप, एग्जिट पोल पर भी उठाए सवाल

लखनऊः समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने यूपी विधानसभा चुनाव की मतगणना से पहले EVM में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। साथ ही एग्जिट पोल पर भी सवाल उठाये हैं। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बनारस में ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। कहा कि अगर ईवीएम को हटाना है तो प्रत्याशी को बताएं। आगे कहा ये लोकतंत्र की आखिरी लड़ाई है। मैं सभी पार्टी के लोगों से कहूंगा कि लोकतंत्र बचाएं। ये लोकतंत्र के लिए बहुत खतरे का समय है। कहा कि मतगणना में धांधली की कोशिश को नाकाम करने के लिए सपा-गठबंधन के सभी प्रत्याशी और समर्थक अपने-अपने कैमरों के साथ तैयार रहें। युवा लोकतंत्र व भविष्य की रक्षा के लिए मतगणना में सिपाही बने।

अखिलेश यादव ने कहा कि वाराणसी में ईवीएम पकड़े जाने का समाचार प्रदेश की हर विधानसभा को चौकन्ना रहने का संदेश दे रहा है। अखिलेश यादव ने प्रशासन पर बिना सुरक्षा के ईवीएम ले जाने का आरोप लगाते हुए वाराणसी के डीएम को बदलने की मांग की। उन्होंने एक्जिट पोल पर सवाल उठाते हुए कार्यकर्ताओं को ईवीएम पर कड़ी नजर रखने को कहा। उन्होंने कहा कि अधिकारी वही करेंगे जो सरकार कहेगी। बिना सुरक्षा के ईवीएम रखी गई है। भाजपा के खिलाफ जनता में काफी नाराजगी है। उन्होंने कहा कि अयोध्या और वाराणसी में सपा चुनाव जीत रही है, इसलिए भाजपा में खलबली मच गई है।

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव पर मतगणना में गड़बड़ी की कोशिश के आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि वह जिलों में फोन करके मतगणना प्रक्रिया को धीरे करने के लिए कह रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि वाराणसी में ईवीएम की एक गाड़ी पकड़ी गई, दो भाग गईं। यदि सरकार वोट की चोरी नहीं कर रही थी तो बताए दो गाड़ियां क्यों भागीं। सुरक्षा का इंतजाम क्यों नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि बनारस के अलावा बरेली में ईएवीएम के तीन बाक्स और 500 बैलेट पकड़े गए। इसके अलावा सोनभद्र में घोरावल के एसडीएम ने ईवीएम पकड़ी।

सपा अध्यक्ष ने सोमवार को विभिन्न एजेंसियों के एग्जिट पोल्स में भाजपा की जीत की भविष्यवाणी को लेकर भी सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि एग्जिट पोल से ऐसा माहौल बनाना चहते हैं कि भाजपा जीत रही है। ताकि चोरी भी करें तो पता ना लगे कि चोरी हुई है। यदि हमने वोट दिया है तो मैं नौजवानों, किसानों और आम लोगों से कहूंगा कि हमारी जिम्मेदारी है कि वोट को बचाएं। वोट नहीं गिना जाएगा तो लोकतंत्र कहां जाएगा। यह लोकतंत्र की आखिरी लड़ाई है। इसके बाद तो जनता को क्रांति करनी पड़ेगी। तभी बदलाव आएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper