मनरेगा में 7.93 करोड़ मानव दिवस सृजित कर देश में उत्तर प्रदेश बना नंबर-1

लखनऊ। अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि प्रदेश के अंदर वर्तमान समय में मनरेगा में 57 लाख 12 हज़ार 975 श्रमिक पंचायती राज विभाग के माध्यम से काम कर रहे हैं। यह संख्या पूरे देश का 18 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि पूरे देश में मनरेगा में यूपी पहले स्थान पर है। उत्तर प्रदेश में अब तक कुल 7 करोड़ 93 लाख मानव दिवस सृजित किए गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना संक्रमित रोगियों के लिए एल 1, एल 2, एल 3 श्रेणी के अस्पतालों में सुविधाओं को और मजबूत करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने विशेष रूप से नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ, बुलंदशहर, हापुड़, बागपत जैसे शहरों में क्रॉस बॉर्डर इन्फेक्शन आने की आशंका को देखते हुए यह निर्देश दिए।

सोमवार को यहां लोकभवन में कोरोना वायरस के संबंध में किए गए प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देशित किया है कि जिस प्रकार से लोगों ने अनुशासन के साथ लॉकडाउन का पालन किया है, ठीक वैसे ही अब अनलॉक प्रक्रिया के दौरान अनुशासन के साथ नियमों का पालन भी करना है। सभी को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मास्क धारण करना है और भीड़ से बचना है। मुख्यमंत्री ने प्रत्येक जनपद के अधिकारियों को यह निर्देश दिया है कि जो भी निर्धारित नियमों का पालन नहीं करता है, उस पर कड़ी कार्रवाई की जाए।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि निर्माण कार्यों की गति को और तेज किया जाए। इसी क्रम में उन्होंने बताया कि लोक निर्माण विभाग में 41 हज़ार 750 करोड़ रुपए के 3083 कार्य प्रारंभ किए गए हैं। इन कार्यों में 41 हज़ार 468 श्रमिकों को रोज़गार मिला है। वहीं अमृत योजना की 128 योजनाओं में 3 हज़ार 711 श्रमिक कार्य कर रहे हैं। हाउसिंग बोर्ड और डेवलपमेंट अथॉरिटी की 444 योजनाओं में 9 हज़ार 916 लोग कार्य कर रहे हैं। आवास विकास विभाग के क्षेत्र में 926 प्रोजेक्ट में 20 हज़ार 211 से अधिक श्रमिक कार्य कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि रविवार तक कुल मिलाकर 1649 ट्रेनों में 22 लाख 26 हज़ार 254 लोग प्रदेश में आ चुके हैं।

8610 लोग पूर्णतः उपचारित होकर पहुंचे अपने घर, रिकवरी का प्रतिशत 61% से भी अधिक: अमित मोहन प्रसाद

प्रेसवार्ता में मौजूद प्रमुख सचिव स्वास्थ्य, अमित मोहन प्रसाद ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कुल 5064 एक्टिव केस हैं। 8610 लोग अबतक पूर्णतः उपचारित होकर अपने घर जा चुके हैं। इस प्रकार हमारा रिकवरी का प्रतिशत 61% से भी अधिक हो गया है। वहीं 417 मरीजों की अब तक इस संक्रमण से मृत्यु हो चुकी है। आइसोलेशन वार्ड में इस समय 5081 लोगों को रखा गया है और इनका उपचार भी वहां जारी है। रविवार को प्रदेश में 13 हज़ार 388 सैंपल की जांच की गई और अब तक प्रदेश में 4 लाख 66 हज़ार 81 सैंपल की जांच की जा चुकी है। पूल सैंपलिंग के अंतर्गत 5-5 सैंपल के 1237 पूल लगाए गए, जिसमें से 201 लोग पॉज़िटिव पाए गए और 10-10 सैंपल के 98 पूल लगाए गए, जिसमें से 20 सैंपल पॉज़िटिव पाए गए।

आरोग्य सेतु एप का उपयोग लगातार प्रदेश में किया जा रहा है। इसी क्रम में अबतक हम राज्य मुख्यालय से 81 हज़ार 339 लोगों को फोन कॉल कर चुके हैं, जिन्हें आरोग्य सेतु एप से अलर्ट जनरेट हुआ है। आशा कार्यकर्ताओं द्वारा अब तक 16 लाख 46 हज़ार 312 कामगारों और श्रमिकों का सर्वेक्षण किया जा चुका है, जिनमें से 1455 लोगों में उन्हें कोई ना कोई लक्षण दिखाई दिए हैं। सर्वेलेंस का कार्य करते हुए अब तक 17 हज़ार 695 इलाकों में 92 लाख 9 हज़ार 680 घरों का सर्वेलेंस किया गया, जिसमें 4 करोड़ 69 लाख 53 हज़ार 258 लोग रहते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper