मप्र में कोरोना संक्रमण के चलते स्कूलों को 31 के बाद खोलने पर संशय

भोपाल: मध्य प्रदेश में कोरेाना की तीसरी लहर का असर बना हुआ है, मरीजों की संख्या में उतार-चढ़ाव का क्रम जारी है। यही कारण है कि 31 जनवरी के बाद स्कूलों के खुलने पर संशय बना हुआ हैं। फिलहाल यही कहा जा रहा है कि फैसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ही लेंगे। राज्य में कोरेाना के 24 घंटे में नए मरीज आने की संख्या 10 हजार के आसपास ही बनी हुई है, पूर्व मंे यह आंकड़ा 11 हजार के करीब पहुॅच गया था।

राज्य के गृहमंत्री डा नरोत्तम मिश्रा के अनुसार, प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 9,532 नए केस आए हैं,जबकि 10,547 लोग ठीक हुए हैं। प्रदेश में वर्तमान में संक्रमण दर 11.95 प्रतिशत और रिकवरी रेट 90.50 प्रतिशत है। वर्तमान में एक्टिव केस की संख्या 71,203 है, जिनमें 1390 पुलिसकर्मी शामिल है।

कोरेाना के मरीजों के मामले में इंदौर और भोपाल अब भी अव्वल बने हुए है, इन दोनों ही जिलों में एक दिन में दो हजार से ज्यादा प्रकरण आ रहे हैं। वही राज्य में बीते 24 घंटों में कोरेाना पीड़ित आठ मरीजों की मौत हुई है।

राज्य में कोरेाना संक्रमण के कारण विद्यालयों केा 31 जनवरी तक के लिए बंद किया गया है, छात्र विद्यालय नहीं आ रहे है मगर शिक्षक विद्यालय जा रहे है। पढ़ाई ऑन लाइन ही चल रही हैं। स्कूल 31 जनवरी के बाद खुल पाएंगे इसको लेकर संशय बना हुआ है।

राज्य के स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार भी स्कूल खोलने केा लेकर संशय में है। उनका कहना है कि कोरोना के प्रकरण बढ़ रहे हैं। अगर यही स्थिति रही तो 31 जनवरी के बाद भी स्कूल खोलना मुश्किल होगा। स्कूल खोलना या बंद करना संक्रमण की परिस्थिति पर निर्भर करता है। संक्रमण का प्रभाव कम हुआ तो स्कूल खुल भी सकते हैं। समय पर समीक्षा करेंगे, फिर तय करेंगे कि स्कूल खोले जाए या नहीं।

राज्य के गृहमंत्री डा मिश्रा ने भी कहा, प्रदेश में स्कूलों खोलने को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समीक्षा कर निर्णय लेंगे। फिलहाल 31 जनवरी तक स्कूल बंद है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper