मलेशिया के प्रधानमंत्री ने किया दावा- जाकिर नाईक की प्रत्यर्पण पर PM मोदी से नहीं हुई थी बात

मलेशिया के प्रधानमंत्री ने किया दावा- जाकिर नाईक की प्रत्यर्पण पर PM मोदी से नहीं हुई थी बात

नई दिल्ली: मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने दावा किया है कि विवादास्पद इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण को लेकर पीएम मोदी ने उनसे कोई बात नहीं की है। इसी महीने रूस के दौरे पर दोनों नेताओं के बीच बातचीत हुई थी। बता दें कि जाकिर नाइक कट्टरपंथ को भड़काने और मनीलॉन्ड्रिंग के मामले में वांटेड अपराधी है। नाईक को ज्यादा देश नहीं चाहते हैं।

मलयेशियाई मीडिया के अनुसार, प्रधानमंत्री म्हातिर मोहम्मद ने जाकिर नाइक को भारत को लौटाए जाने की संभावना को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि उसे ज्यादा देश नहीं चाहते है। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिला हूं, उन्होंने भी उसकी मांग नहीं की थी। यह शख्स भारत के लिए भी परेशानी का सबब बन सकता है।

उन्होंने कहा कि जाकिर नाईक इस देश का नागरिक नहीं है, उसे पिछली सरकार ने स्थायी निवासी का दर्जा दिया था। स्थायी निवासी को देश के सिस्टम तथा राजनीति के बारे में टिप्पणी नहीं करनी चाहिए, उसने इसका उल्लंघन किया है, इसलिए अब उसे बोलने की अनुमति नहीं है।

हालांकि पहले ऐसी खबर भी आई थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के व्लादिवोस्तोक में आयोजित ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम के दौरान अपने मलेशियाई समकक्ष म्हातिर मोहम्मद के साथ जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण के मुद्दे को उठाया था। विदेश सचिव विजय गोखले ने इस बैठक के संबंध में मीडियाकर्मियों को जानकारी दी थी।

विजय गोखले ने प्रधानमंत्री मोदी की मलयेशिया के प्रधानमंत्री के साथ हुई बैठक पर कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण का मामला उठाया है। दोनों पक्षों ने फैसला लिया है कि हमारे अधिकारी मामले के संबंध में संपर्क में रहेंगे और यह हमारे लिए एक महत्वपूर्ण मुद्दा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper