महात्मा गांधी व जार्ज फर्नांडिस को पीएसपी ने दी श्रंद्धाजलि

लखनऊ ब्यूरो। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (पीएसपी) की बौद्धिक सभा ने बुधवार को शिविर कार्यालय में स्थित लोहिया सभागार में राष्ट्रपिता महात्मा की पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में श्रद्धांजलि संगोष्ठी का आयोजन किया। इस अवसर पर महात्मा गांधी व जार्ज फर्नांडिज को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए बौद्धिक सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष दीपक मिश्र ने कहा कि बापू अक्सर कहा करते थे कि दुनिया की दरिद्रता से निजात सिर्फ समाजवाद के सीधे-सपाट रास्ते पर चलकर पाया जा सकता है।

उन्होंने कांग्रेस सोशलिस्ट पार्टी के संस्थापकों में अग्रगण्य आचार्य सम्पूर्णानंद की पुस्तक पर टिप्पणी करते हुए स्वयं को समाजवादी कहा था। महात्मा गांधी की सोच को राम मनोहर लोहिया ने सिद्धान्त में ढ़ाला और आजाद हिन्दुस्तान में बापू की वैचारिकी को आगे बढ़ाया। भारत में गांधी व गोडसे की विचारधारा का सतत संघर्ष आज भी अनवरत जारी है। पीएसपी महात्मा गांधी की कुटीर उद्योगों की अवधारणा, अन्याय के सतत प्रतिकार व पंथनिरपेक्षता की सोच में गहरी आस्था रखती है। गांधी सेकुलर स्टेट के हामी थे। उन्होंने अपनी महान मेघा से समाजवाद के प्रगतिशील पक्ष को नया आयाम दिया।

मिश्र ने जार्ज के संस्मरणों को सुनाते हुए कहा कि अपनी सादगी व समाजवाद के प्रति गहरी आस्था के लिए सदैव याद किए जाएंगे। जार्ज का जाना समाजवादी वैचारिकी की अपूर्ण क्षति है। पीएसपी जार्ज के अधूरे मिशन को पूरी प्रतिबद्धता से पूरा करेगी और तिब्बत की आजादी की लड़ाई को आगे बढ़ाएगी। हालिया रिलीज ‘ठाकरे’ फिल्म में जार्ज का अपमान किया गया है, इसलिए ठाकरे फिल्म का बहिष्कार किया जाएगा। शिवसेना व संजय दाउत अपने इस हरकत के लिए माफी मांगे।

संगोष्ठी को पीएसपी छात्र सभा के प्रदेश लोकेश भाटी, बौद्धिक सभा के प्रदेश यूपी प्रभारी ओपी राय, बौद्धिक सभा के प्रदेश अध्यक्ष प्रो. पंकज कुमार, इलाहाबाद छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष, दिनेश यादव, प्रवक्ता अरविन्द यादव, इरफान मलिक समेत कई वक्ताओं ने सम्बोधित किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper