महिला ने कथित तौर पर खुद का अपहरण करवाया, फिरौती के लिए 10 लाख मांगे

लखनऊ । एक 29 वर्षीय महिला ने कथित तौर पर 10 लाख रुपये की फिरौती के लिए खुद का अपहरण करवाया, लेकिन उसकी मां ने दावा किया कि कुछ लोगों ने उसका अपहरण कर फिरौती मांगने के लिए उसे ब्लैकमेल किया है। खबरों के मुताबिक, महिला बुधवार को लापता हो गई थी और गुरुवार को लखनऊ के आशियाना इलाके में उसके दोस्त के घर से पुलिस ने उसे बरामद किया।

महिला की मां ने गुरुवार को पुलिस को उसके बारे में सूचित किया था और पुलिस को उसे कुछ ही घंटे में ढूंढ लिया। डीसीपी सेंट्रल जोन अपर्णा रजत कौशिक ने कहा कि, काउंसलर की मदद से वे घटना के बारे में तथ्यों का पता लगाने के लिए महिला से पूछताछ कर रही हैं। महिला एक डेंटल क्लिनिक में काम करती है जबकि उसके पिता की कपड़े की एक छोटी सी दुकान है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, महिला ने बुधवार को अपने माता-पिता को फोन कर 18,000 रुपये अपने पेटीएम अकाउंट में ट्रांसफर करने को कहा। जब वह घर नहीं लौटी, तो उसके माता-पिता ने उसके कार्यस्थल पर और बाद में उसके दोस्तों के घरों में उसकी तलाश की, लेकिन वो नहीं मिली। गुरुवार को उसके नंबर से एक फोन कॉल से परिवार में हड़कंप मच गया।

बाद में, उसका फोन स्विच ऑफ पाया गया जिसके कारण उसके माता-पिता ने मदद के लिए पुलिस से संपर्क किया। पुलिस अधिकारी ने कहा, “महिला ने अपने माता-पिता को बताया कि उसे 6-7 पुरुषों और महिलाओं के एक समूह ने अपहरण कर लिया था और उसे एक घर में बंदी बना लिया गया था। परिवार ने तुरंत पुलिस से संपर्क किया जो उसे एक परिचित के स्थान से बरामद करने के लिए कार्रवाई में जुट गई।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper