माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के समक्ष बरेली की मण्डलायुक्त श्रीमती सौम्या अग्रवाल एवं बरेली विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री जोगिन्दर सिंह द्वारा नाथ नगरी बरेली में प्रस्तावित नाथ कॉरिडोर एवं अन्य महत्वपूर्ण विकास कार्यों का प्रस्तुतीकरण किया गया

बरेली , 18 मई। माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के समक्ष बरेली की मण्डलायुक्त श्रीमती सौम्या अग्रवाल एवं बरेली विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री जोगिन्दर सिंह द्वारा नाथ नगरी बरेली में प्रस्तावित नाथ कॉरिडोर एवं अन्य महत्वपूर्ण विकास कार्यों का प्रस्तुतीकरण किया गया।
नाथ कॉरिडोरः- बरेली शहर में स्थित पौराणिक 7 नाथ मंदिरों अलखनाथ, मढ़ी नाथ, तपेश्वर नाथ, धोपेश्वर नाथ, पशुपति नाथ, बनखण्डी नाथ, त्रिवटी नाथ को आपस  में जोड़ते हुए नाथ कॉरिडोर का निर्माण करने एवं इसके अन्तर्गत आने वाले प्रमुख  चौराहों का विकास करने, सूचना पटटी का निर्माण करने एवं नाथ मंदिरों के  सौन्दर्यीकरण करने की योजना का प्रस्तुतीकरण किया गया। इसके साथ ही सातों मंदिरों के प्रवेश द्वार के निर्माण का डिजाइन प्रस्तुत किया गया। प्रथम चरण में अलखनाथ मंदिर के विकास एवं जीर्णोद्धार की योजना का भी प्रस्तुतीकरण किया गया। अलखनाथ मंदिर के पहुॅच मार्ग के विकास के साथ-साथ दर्शनार्थियों की सुविधा हेतु बेंचों, जन सुविधाएं एवं पेयजल सुविधा, जूता, चप्पल रखने  हेतु स्टैण्ड, पूजन एवं अन्य सामग्री के विक्रय हेतु स्टॉल का निर्माण, पार्किंग व्यवस्था, प्रकाश व्यवस्था करना प्रस्तावित है। साथ ही भण्डारे हेतु भण्डारा स्थल, गायों के रहने हेतु शैड का निर्माण एवं इसके खुले हुए क्षेत्र में पार्क के विकास कार्य के साथ-साथ इसमें चल रही नदी पर घाट का निर्माण की  योजना का प्रस्तुतीकरण किया गया। इसके साथ-साथ अन्दर के मंदिर का विकास  करते हुए अलखनाथ कॉरिडोर के निर्माण की योजना का प्रस्तुतीकरण किया गया।
रामगंगा रिवर फ्रन्ट पर 17 एकड़ भूमि में प्रस्तावित नाथ वाटिका, बदायूॅ रोड पर बरेली विकास प्राधिकरण की नाथ धाम आवासीय योजना, रामगंगा नगर आवासीय योजना में विकसित हो रही रामायण वाटिका एवं विभिन्न मुख्य मार्गों के चौड़ीकरण के विकास कार्यों का भी प्रस्तुतीकरण किया गया।
उपरोक्त प्रस्तुतीकरण के उपरान्त माननीय मुख्यमंत्री महोदय द्वारा निर्देशित किया गया कि नाथ नगरी कॉरिडोर की डी0पी0आर0 पर्यटन विभाग को शीघ्र प्रस्तुत की जाये एवं प्रथम चरण में अलखनाथ मंदिर एवं धोपेश्वर नाथ मंदिर का विकास कार्य एवं कॉरिडोर का निर्माण शीघ्र कराया जाये। साथ ही निर्देशित किया गया कि बरेली के  विकास कार्यों को इस रूप में किया जाये कि जिससे बरेली की पहचान नाथ नगरी के रूप में हो एवं बरेली में विभिन्न प्रवेश बिन्दुओं पर नाथ द्वारों का निर्माण किया जाये एवं  उसका नामकरण भोले नाथ के विभिन्न नामों पर करा जाये, जिससे नाथ नगरी की पहचान सुनिश्चित हो। दर्शनार्थियों के लिए सातों मंदिरों की परिक्रमा हेतु इलेक्ट्रॉनिक वाहनों का संचालन किया जाये।
माननीय मुख्यमंत्री महोदय द्वारा बरेली विकास प्राधिकरण के कार्यों की प्रशंसा की गयी।
बरेली से ए सी सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper