मायके वालों ने रक्षाबंधन पर नहीं दिए बेटी को महंगे गिफ्ट तो पति ने कर दी ससुर की हत्या

लखनऊ। पंजाब के संगरूर में एक शख्स ने अपने ससुर की निर्मम हत्या कर दी है। लेकिन,इसके पीछे की कहानी जान आप भी चौंक जाएंगे। दरअसल, राखी पर शख्स की पत्नी मायके गई थी और जब लौटी तो उसके पास गिफ्ट कम थे। इसलिए, पति गुस्से से आगबबूला हो गया और उसने न केवल अपनी पत्नी से मारपीट की गई, बल्कि ससुर की भी निर्मम हत्या कर दी।

जानकारी के मुताबिक, नेहा गुप्ता नामक महिला की पांच साल पहले मोहन लाल से शादी हुई थी। नेहा ने बताया कि शादी के कुछ समय बाद ही ससुराल वाले उसे दहेज की डिमांड करने लगे। इतना ही कई बार उसे ताना भी मारते और प्रताड़ित भी करते थे। रविवार को राखी पर वह मायके घर सुनाम अपने भाई को राखी बांधने के लिए गई थी। राखी बांधने के बाद जब वह वापस अपने ससुराल लहरागागा आई तो पति मोहन लाल ने उससे पूछा कि राखी बांधने भाई के पास गई थी तो तुम्हारे मायके वालों ने तुझे क्या कुछ दिया। नेहा ने कुछ शगुन और अन्य उपहार दिखा दिए।

यह देखकर मोहन लाल भड़क गया कि मायके वालों ने उसकी पत्नी को महंगा सोने का कोई उपहार नहीं दिया। उसने कहा कि तुम्हारे घरवालों ने तो कुछ भी खास नहीं दिया और इसी बात पर उससे मारपीट की। इसके बाद उसने मायके फोन करके पिता अनिल कुमार को सारी बात बताई। राखी के अगले दिन नेहा के पिता अनिल कुमार, भाई सौरभ गुप्ता, उनके दो मित्र जतिंदर सिंह व दीवान सिंगला उसके ससुराल लहरा आए तो उसके पति व पिता के बीच तकरार बढ़ गई। उसके पति ने पिता अनिल कुमार से मारपीट की। पिता की छाती में मुक्के मारे तो वह बेहोश हो गए। उसका भाई व अन्य परिजन उसके पिता को सुनाम अस्पताल ले जाए, जहां से उन्हें संगरूर अस्पताल रेफर कर दिया। लेकिन, रास्ते में ही उनकी मौत हो गई।

इसके बाद नेहा ने अपने ससुराल के नौ लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। नेहा के बयान पर पुलिस ने पति मोहन लाल, ससुर तरसेम लाल, सास किरणा देवी, ननद मीना रानी, जेठ सोहन लाल व दो अज्ञात महिलाओं व दो पुरुषों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल, पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper