मायावती ने साधा पीएम पर निशाना, कहा- सरकार की संलिप्तता के कारण देश से फरार हो रहे हैं गबन करने वाले

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने आरोप लगाया कि बड़े-बड़े पूँजीपति व धन्नासेठ अपने निजी स्वार्थ व लाभ के लिए देशहित से घिनौना खिलवाड़ करते हुये सरकारी बैंको का अरबों-खरबों रुपयों का गबन कर रहे हैं और सरकार की संलिप्तता के कारण वे देश से फरार होने में सफल हो रहे हैं।

बसपा मुखिया ने शनिवार को यहां जारी बयान में कहा कि कुछ मुठ्ठीभर बड़े-बड़े पूँजीपतियों व धन्नासेठों के हित में तो लगातार काम किये जा रहे हैं परन्तु देश के सवा सौ करोड़ गरीबों, मजदूरों, किसानों, युवाओं, बेरोजगारों व अन्य मेहनतकश लोगों से किये गये ’अच्छे दिन’ के वायदे क्यों नहीं पूरे किये जा रहे हैं जबकि इनमें ही देश का असली हित निहित है।

बसपा नेत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा कोयला क्षेत्र का निजीकरण करके निजी कम्पनियों को कोयला खदानों में उत्पादन व इस्तेमाल की अनुमति देने के फैसले को ’’धन्नासेठों का तुष्टीकरण’’ करने की नीति बताया। उन्होंने कहा कि कोयला जैसी महत्त्वपूर्ण राष्ट्रीय सम्पत्ति का दोहन करने के लिये इसका निजीकरण करना चिन्ता की बात हैं।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि मोदी सरकार हर बड़े व महत्त्वपूर्ण क्षेत्र का निजीकरण करके एक ऐसे गुप्त एजेण्डे पर काम कर रही है जिससे दलितों व पिछडे वर्गों के लिये रोजगार में आरक्षण की संवैधानिक व्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित तो हो ही रही है, इससे देश का भी अहित हो रहा है। उन्होंने कहा कि इसका खामियाजा पूरे देश को काफी लम्बे समय तक भुगतना पड़ेगा क्योंकि पूरा देश खुली आँखों से देख रहा है कि निजी क्षेत्र की कम्पनियाँ देश को लूटने में लगी हुई हैं और भाजपा सरकार अपना कान, आँख सब कुछ बन्द किये हुये है।

देश लुट रहा है और सेवादार व चौकीदार सब सत्ता के नशे में धुत नजर आ रहे है। उप्र की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि मोदी सरकार के लगभग चार वर्ष के कार्यकाल में देश की आम जनता ने महसूस कर लिया है कि देश की सम्पत्ति को लूटने व लुटाने के मामले में कांग्रेस व भाजपा दोनों ही पार्टियों की सरकारें चोर-चोर मौसेरे भाई ही लगते हैं जो देशहित में अत्यन्त ही घातक प्रवृत्ति है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper