मुंबई में भाटिया समेत 6 निजी अस्पताल सील

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप का असर आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai) के अस्पतालों पर भी दिख रहा है. कोविड-19 (COVID-19) के संक्रमण के कारण शहर के करीब छह प्राइवेट अस्पतालों को सील कर दिया गया है. इसमें पांच बड़े अस्पताल भी शामिल है. जिससे लोगों में दहशत का माहौल है. इन सभी अस्पतालों के डॉक्टर और नर्स एवं पैरा मेडिकल कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित हुए है.

मिली जानकारी के मुताबिक कोरोनो वायरस के कारण मुंबई के वॉकहार्ट अस्पताल (Wockhardt Hospital) और जसलोक अस्पताल (Jaslok Hospital) के बाद अब भाटिया अस्पताल (Bhatia Hospital), ब्रीच कैंडी अस्पताल (Breach Candy Hospital), हिंदुजा अस्पताल (Hinduja Hospital) और स्पंदन अस्पताल (Spandan Hospital) को बंद कर दिया गया है. इस संबंध में एक अधिकारी ने कहा कि अस्पताल को सील कर दिया गया है ताकि वहां से संक्रमण का प्रसार न हो, सभी संक्रमित लोगों और जिनपर संक्रमित होने का संदेह है, सभी को आइसोलेशन में रखा गया है.

मुंबई के पेडर रोड स्थित जसलोक अस्पताल में एक कर्मचारी के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने पर बुधवार से नई भर्ती रोक दी गई. इसके अलावा ओपीडी को भी बंद कर दिया गया है. वहीं, मुंबई सेंट्रल स्थित वोकहार्ट अस्पताल के तीन डॉक्टर और 26 नर्स एवं पैरा मेडिकल कर्मचारी के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि होने के बाद उसे सील कर दिया गया. बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के स्वास्थ्य अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि किसी को भी अस्पताल में प्रवेश-निकास अनुमति नहीं है. हालांकि अस्पताल के इतने कर्मचारी वायरस से कैसे संक्रमित हुए, इसकी जांच चल रही है.

उल्लेखनीय है कि मुंबई में कोरोना के कारण बुधवार तक 45 संक्रमितों की मौत हो गई है. इसके अलावा नए मामलों के साथ कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 714 हो गई है. जबकि राज्यभर में 1297 लोग कोविड-19 से पीड़ित है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper