मुख्यमंत्री के आदेश पर बरेली मंडल बनेगा नो ट्रिपिंग जोन, बनेगे 35 नये सबस्टेशन

बरेली: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर बरेली मंडल नो ट्रिपिंग जोन बनेगा। लोकल फाल्ट, निर्बाध विद्युत आपूर्ति और लो वोल्टेज की समस्या से निजात दिलाने के लिए बरेली मंडल के चारों जिलों में 35 नये विद्युत सब स्टेशन बनाये जाएंगे। इसके अलावा करीब 67 स्टेशनों पर पावर ट्रांसफॉर्मर लगाकर क्षमता वृद्धि की जाएगी। प्रथम वरीयता क्रम में 27 पावर ट्रांसफॉर्मर लगाए जा रहे हैं।

नये विद्युत सबस्टेशन के लिए जगह चिन्हित कर कार्रवाई तेज कर दी गई है। उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन बरेली जोन के मुख्य अभियंता राजीव शर्मा ने मंडल के चारों जिलों के सभी अधिशासी अभियंताओं को मुख्यमंत्री के आदेश के क्रम में निर्बाध विद्युत आपूर्ति कराने और उपभोक्ताओं की समस्याओं के त्वरित निस्तारण के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि 24 घंटे चारों जिलों में कंट्रोल रूम चलेंगे। हर उपभोक्ता की समस्या का समाधान विद्युत विभाग की पहली प्राथमिकता होगी।मुख्य अभियंता राजीव शर्मा ने बताया कि बरेली मंडल में 12, बदायूं में 9, शाहजहांपुर में छह, पीलीभीत में दो, बरेली अर्बन चार और बरेली रूरल में 7 नए बिजलीघर 33/11 के बनाए जाएंगे. इसके लिए जगह चिन्हित कर दी गई है। बिजली घर बनाने की कार्रवाई तेज करने के निर्देश संबंधित अफसरों को दिए गए हैं।

बरेली मंडल कमिश्नर संयुक्ता समद्दार के निर्देश पर चारो जिलों का कायाकल्प करने के लिए उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन ने कमर कस ली है। औद्योगिक इकाई वाले क्षेत्रों को चिन्हित किया गया है। वहां निर्बाध विद्युत आपूर्ति और लो वोल्टेज, लोकल फाल्ट से निपटने के लिए क्षमता वृद्धि की जा रही है। इसमें चुनुआ, भूता के बालीपुर, फतेहगंज पूर्वी, रिक्षा, धौरा टांडा, पुन्नापुर, शहर में मिशन कंपाउंड, इज्जतनगर और महानगर में क्षमता वृद्धि की जा रही है। चीफ इंजीनियर राजीव शर्मा ने बताया कि बरेली के सुभाषनगर द्वितीय, कर्मचारी नगर मिनी बाईपास, प्रेमनगर में सीआई पार्क, पीलीभीत बाईपास पर पवन विहार, आंवला में बड़ा गांव गुलरिया, आंवला रूरल, इफको के पास सेंधा, बहेड़ी में गुरसौली, मीरगंज में हुरहुरी, सेंभरा, भमोरा और रजऊ परसपुर में नए विद्युत उप केंद्र खोलने के लिए स्थान चिन्हित किए गए हैं। जल्द ही वहां निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा।

बरेली मंडल में 18.5 लाख विद्युत उपभोक्ता है। चीफ इंजीनियर के मुताबिक 98 फ़ीसदी लोगों की बिजली बिलिंग की व्यवस्था की जा रही है। उन्हे कनेक्शन धारक के रूप में ट्रेस किया गया है। दो फीसदी लोगों को केवाईसी के जरिए ट्रेस करने की कोशिश चल रही है। हाल ही में शासन ने बरेली मंडल में एक करोड़ का बजट जारी किया था। पीलीभीत, शाहजहांपुर, बदायूं और बरेली डिवीजन को 25- 25 लाख रुपये आवंटित किए गए हैं। इससे वह लाइन लॉस समेत जरूरी समस्याओं का समाधान करवा रहे हैं।

बरेली से ए सी सक्सेना ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper