मुख्यमंत्री के निर्देश पर शहर को स्मार्ट बनाने की दिशा में बढ़े कदम ,कम्पोजिट मोबिलिटी प्लान पर हुआ मंथन

बरेली, 18 जनवरी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर बरेली ने स्मार्ट बनने की दिशा में एक कदम और बढ़ा दिया है। 20 वर्ष की संभावनाओं को गति देने के लिए कंसलटेंट यूएमटीसी द्वारा बनायी गई कंप्रिहैंसिव मोबिलिटी प्लान पर आयुक्त संयुक्ता समद्दार ने नगर आयुक्त निधि गुप्ता, वीसी बी डी ए जोगिंदर सिंह और सचिव योगेन्द्र कुमार, अपर आयुक्त अरुण कुमार, एस पी ट्रैफिक राम मोहन, चीफ इंजीनियर पीडब्ल्यूडी संजय तिवारी, NHAI, रेलवे विभाग, रोडवेज के साथ गहन मंथन किया ।

अब बदायूं रोड पर मॉडर्न बस अड्डा बनेगा। इससे ताज नगरी आगरा समेत राजस्थान जाने का सफर आसान हो जाएगा। रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक को सात दिन में बदायूं रोड पर बस अड्डा बनाने का प्रस्ताव देने के निर्देश दिए गए हैं। बस अड्डा बनाने के लिए बरेली विकास प्राधिकरण ने 1.693 हेक्टेयर जमीन उपलब्ध कराने का प्रस्ताव भी बैठक में दिया है। शहर में बढ़ते ट्रैफिक को देखते हुए हाई डिमांड ट्रैफिक कारीडोर की समीक्षा कर जाम से निजात दिलाने वाला कारीडोर बनाने को कहा गया है। इसके अलावा छोटी सड़कों पर मिनी इलेक्ट्रिक बसें चलाने की संभावनाएं भी तलाशी जा रही हैं। जिससे कि शहर में ग्रीन और इलेक्ट्रिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा दिया जा सके। निजी वाहनों की सड़कों पर भीड़ को कम किया जाए। कल कंप्रिहेंसिबिलिटी प्लान को लेकर हुई बैठक में कमिश्नर संयुक्ता समद्दार ने बरेली और उसके आसपास बड़े दुर्घटना संभावित ब्लैक स्पॉट वाले क्षेत्र मयूर वन चेतना केंद्र, बिलवा, रिठौरा, नवादा, रामगंगा, झुमका तिराहा को तत्काल दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं। कमिश्नर ने कंप्रिहेंसिव मोबिलिटी प्लान बनाने वाली संस्था को 12 मीटर से कम की सड़क का पीडब्ल्यूडी, बीडीए, NHAI, बीएससीएल के साथ सत्यापन कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। जिससे वहां छोटे पब्लिक वाहनों को चलाकर शहर में बढ़ते वाहनों की भीड़ को कम किया जा सके।

सिटी डेवलपमेंट प्लान के लिए मेनहॉट सिंगापुर, कंपनी ने पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के जरिए कंप्रिहेंसिव मोबिलिटी प्लान, नाथ नगरी कारीडोर का प्रेजेंटेशन किया। इसमें शहर के सात नाथ मंदिरों को जोड़ने के लिए एक सर्किट तैयार किया गया है। श्रद्धालुओं को नाथ मंदिरों में दर्शन के लिए बरेली जंक्शन रेलवे स्टेशन से चलने वाली इलेक्ट्रिक बस ले जायेगी। सातों मंदिरों के कारीडोर के विकास कार्य को तीन अलग-अलग भागों में बांटा गया है। प्रथम चरण में मंदिरों के साइन बोर्ड, डस्टबिन से बस स्टॉप, स्ट्रीट लाइट, पीने के पानी एवं टॉयलेट्स और पार्किंग की सुविधा दी जाएगी। द्वितीय चरण में मंदिरों को आने जाने वाले रोड, मुख्य प्रवेश द्वार, डिजास्टर एवं क्राउड मैनेजमेंट के काम पूरे किए जाएंगे। तृतीय चरण में मंदिरों के आसपास कियॉस्क, क्लॉक रूम, शूज स्टैंड और बैठने की जगह विकसित की जायेगी ।
कंप्रिहेंसिव मोबिलिटी प्लान और नाथ नगरी कारी डोर तैयार करने वाली संस्था के प्रेजेंटेशन को लेकर कोर कमेटी ने कोर ग्रुप में कई सवाल खड़े किए जिस पर कमिश्नर संयुक्ता समद्दार ने प्लान की मॉनिटरिंग के लिए वर्किंग ग्रुप का गठन किया है वर्किंग ग्रुप में अपर आयुक्त, एनएचएआई, पीडब्ल्यूडी, बीडीए सचिव,
रेलवे, रोडवेज, एसपी ट्रैफिक टाउन प्लानर नगर निगम रहेंगे और 2041 मोबिल्टी प्लान की समीक्षा कर
आगामी 20 दिनों में अपने सुझाव देंगे।

बरेली से ए सी सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper