मुख्यमंत्री के निर्देश पर कमिश्नर ने की इन्वेस्टर्स एवं निर्यातक शिखर सम्मेलन की तैयारियों की समीक्षा


बरेली, 22 जनवरी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उत्तर प्रदेश को उद्योगों का प्रदेश बनाने की दिशा में बरेली मंडल अहम भूमिका का निर्वहन करने जा रहा है। मुख्यमंत्री के महत्वाकांक्षी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के तहत बरेली मंडल में 20927 करोड़ का निवेश किया जाएगा। इसको लेकर उद्यमियों ने अपनी सहमति दे दी है। 24 जनवरी को होने वाले इन्वेस्टर्स एवं निर्यातक शिखर सम्मेलन की शनिवार को कमिश्नर संयुक्ता समद्दार ने समीक्षा की। उन्होंने सभी उद्यमियों से निवेश करने को लेकर सुरक्षित निवेश के प्रति आश्वस्त किया। उन्होंने कहा कि उद्यमियों की सभी प्रकार की समस्याओं का प्राथमिकता से समाधान होगा। उद्यमियों को शासन से मिलने वाली सभी तरीके की सब्सिडी का लाभ मिलेगा और उद्योग लगाने में किसी भी तरह की एनओसी व अन्य सहूलियत तत्काल मुहैया कराई जाएंगी। 24 जनवरी को होने वाली इन्वेस्टर्स निर्यातक शिखर सम्मेलन में सबसे ज्यादा बरेली जिले के उद्यमी 11152 करोड़ का निवेश करेंगे।

कमिश्नर संयुक्ता समद्दार ने बताया कि 24 जनवरी, 2023 को इन्वेस्टर्स निर्यातक शिखर सम्मेलन आईएमए सभागार में होगा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश के औद्योगिक विकास, निर्यात प्रोत्साहन, एनआरआई निवेश प्रोत्साहन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी होंगे। कमिश्नर ने कार्यक्रम को लेकर आईएमए में सभागार पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने कार्यक्रम को भव्य तरीके से कराने के निर्देश संयुक्त आयुक्त उद्योग ऋषि रंजन गोयल और जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी को दिए।

इन्वेस्टर समिट को लेकर कमिश्नर संयुक्ता समद्दार की समीक्षा बैठक में उद्योगपति काफी उत्सुक नजर आए। उन्होंने कहा कि इन्वेस्टर सम्मिट से उद्योगपतियों को काफी लाभ होगा। कमिश्नर ने समीक्षा बैठक में संयुक्त आयुक्त उद्योग ऋषि रंजन गोयल को निर्देश दिए कि वह उद्यमी अभिनव अग्रवाल अध्यक्ष सेंट्रल यूपी चेंबर ऑफ कॉमर्स, अर्पित अग्रवाल सेक्रेटरी, तनुज भसीन चेयरमैन आईआईए बरेली, मयूर धीरवानी सेक्रेटरी, राजेश गुप्ता, आयुष अग्रवाल, एसके सिंह, उन्मुक्त संभव शील, अभिनव कटरू के साथ समन्वय स्थापित करें। बरेली में 10 बड़े निवेशकों ने 4241.96 करोड़ के प्रस्ताव दिए हैं। इसके अलावा बायोफ्यूल्स इंडस्ट्री में 242.7 करोड़, फूड प्रोसेसिंग में 666.57 करोड़, एसएसएमई में 661.76 करोड, सर्विस में 662.09 करोड़, टेक्सटाइल में 106.195 करोड़, पर्यटन में 296.62 और बड़े एमएसएमई सेक्टर में 8516.7 करोड़ के निवेश के प्रस्ताव दिए गए।

इन्वेस्टर समिट में उद्यमियों को आकर्षित करने के लिए उत्तर प्रदेश शासन की ओर से दी जाने वाली लाभकारी योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। उद्यमियों निवेशकों का पंजीकरण कार्यक्रम की रूपरेखा औद्योगिक निवेश और रोजगार प्रोत्साहन नीति 2022, उत्तर प्रदेश पर्यटन नीति, हैंडलूम बार टैक्सटाइल पॉलिसी, फूड प्रोसेसिंग पॉलिसी, स्टेट बायो एनर्जी पॉलिसी, डेयरी फार्म विकास नीति, वेयरहाउसिंग नीति 2022 के संबंध में प्रस्तुतीकरण किया जाएगा। इसके अलावा निवेशकों की समस्याओं, जिज्ञासाओं का समाधान होगा। उनके सवालों के जवाब दिए जाएंगे। संबंधित सेक्टर के विशेषज्ञ इन्वेस्टर समिट में उपस्थित रहेंगे। निवेशकों की समस्याओं के समाधान के लिए पर्यटन, टेक्सटाइल, खाद्य प्रसंस्करण, बायोफ्यूल सोलर पावर, एमएसएमई, मेगा इंडस्ट्रीज, यूपी राजस्व विभाग, बरेली विकास प्राधिकरण की अलग-अलग टीमें गठित की गई हैं। वह निवेशकों की समस्याओं का समाधान करेंगे। समिति में निर्धारित लक्ष्य निवेश प्रस्ताव को प्राप्त करने के लिए निवेश सारथी पोर्टल का भी व्यापक प्रचार प्रसार किया जाएगा। इससे नए निवेशक इंटेंट पोर्टल पर फाइल कर सकें। बरेली से ए सी सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper