मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देखा खाद कारखाने का काम, बोले-जल्‍द मिलेगी किसानों को खाद, युवाओं को रोजगार

लखनऊ: हिन्दुस्तान उर्वरक रसायन लिमिटेड (एचयूआरएल) के नये प्लांट का काम 30 जून तक पूरा हो जाएगा। इसे तय लक्ष्य से पहले पूरा कर लिया जाएगा। पीएम नरेन्द्र मोदी जल्द ही देश के किसानों और नौजवानों को इसे समर्पित करेंगे। खाद कारखाने से देश यूरिया के मामले में अत्मनिर्भर होगा। किसानों को जहां सस्ती यूरिया मिलेगी वहीं नौजवानों को रोजगार मिलेगा। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केन्द्रीय उर्वरक और रसायन मंत्री सदानंद गौड़ा ने गुरुवार को नये प्लांट के निरीक्षण के बाद मीडिया से बातचीत में कहीं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी ने 26 वर्ष पूर्व बंद कारखाने के नये प्लांट का शिलान्यास किया था। उन्होंने आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार किया है। किसानों को उर्वरक और रसायन के लिए किसी देश पर निर्भर न होना पड़े इसे लेकर गोरखपुर, रामगुंडम, सिंदरी और बरौनी में यूरिया प्लांट का तेजी से कार्य हो रहा है। 8000 करोड़ की लागत से तैयार प्लांट को जल्द ही पीएम नरेन्द्र मोदी किसानों व नौजवानों को समर्पित करेंगे। योगी ने कहा कि प्रजेंटेशन और कार्य का भौतिक निरीक्षण किया गया है। जो संतोषजनक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 1967-68 में जापान की टोयो कंपनी ने खाद कारखाना लगाया था। वहीं टोयो कंपनी फर्टिलाइजर के नये प्लांट को स्थापित कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि नये प्लांट किसानों को जहां सस्ती खाद मिलेगी वहीं नौजवानों को रोजगार मिलेगा। यहां स्किल्ड डेवलेपमेंट के कार्यक्रम आयोजित होंगे। जिससे रोजगार का सृजन होगा।

केन्द्रीय उर्वरक मंत्री सदानंद गौड़ा ने कहा कि निरीक्षण के दौरान प्लांट की प्रगति काफी संतोषजनक दिखी। प्लांट का 98 फीसदी काम पूरा हो गया है। 30 जून से पहले प्लांट में कमर्शियल उत्पादन शुरू हो जाएगा। पूरी कोशिश है कि तय लक्ष्य से पहले खाद कारखाने को आपरेट कर दिया जाये। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अभी देश में 82 से 90 लाख मिट्रिक टन यूरिया विदेशों से आयात होता है। देश में चार स्थानों पर लग रहे यूरिया प्लांट से हम आत्मनिर्भर होंगे। रामगुंडम में जुलाई में उत्पादन शुरू होगा। दिसम्बर में बरौनी और सिंदरी में भी उत्पादन शुरू हो जाएगा।

मंत्री ने कहा कि खाद कारखाने से देश के साथ ही पूर्वांचल के किसानों को लाभ मिलेगा। अब केन्द्र सरकार द्वारा भेजी जा रही सब्सिडी सीधे किसानों के खाते में जा रही है। जिसका लाभ किसानों को मिल रहा है। मंत्री ने कहा कि 1500 से अधिक गोरखपुर के युवाओं को यहां रोजगार मिला हुआ है। मंत्री ने कहा कि गोरखपुर में प्लास्टिक पार्क भी स्थापित करने को लेकर प्रदेश सरकार से अनुमति मिल गई है। अप्रैल के अंत तक प्लास्टिक पार्क का डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट आ जएगी। इसकी स्थापना से जहां भारी भरकम निवेश होगा वहीं हजारों लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper