मुख्यमंत्री योगी ने की स्कूल चलो अभियान की शुरूआत, कहा सभी बच्चों को शिक्षित करना हमारा नैतिक कर्तव्य

श्रावस्ती। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को श्रावस्ती से प्रदेशव्यापी स्कूल चलो अभियान का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सभी बच्चों को शिक्षित करना हमारा नैतिक कर्तव्य है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रत्येक बच्चों को शिक्षित करना न केवल हमारा नैतिक दायित्व है, बल्कि राष्ट्रीय कर्तव्य भी है। अपने देश को दुनिया की एक ताकत बनाने के लिए हमें प्रत्येक बच्चे को शिक्षित करना होगा और इसके लिए आवश्यक है कि हम सभी बच्चों को स्कूल भेजें।

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में तकनीक के साथ ऑनलाइन एजुकेशन को बढ़ावा दिया गया। आज प्रदेश सरकार स्नातक व परास्नातक के छात्र-छात्राओं को टैबलेट व स्मार्टफोन वितरण का कार्य युद्धस्तर पर बढ़ा रही है। उन्होंने कहा कि मुझे प्रसन्नता है कि लगभग दो वर्ष बाद कोरोना महामारी पर प्रभावी अंकुश लगाने के पश्चात हम लोग पुन: स्कूल चलो अभियान के इस कार्यक्रम के साथ जुड़ रहे हैं।

योगी ने कहा कि जनप्रतिनिधि व नागरिक स्कूलों को गोद लें। हम-आप मिलकर शिक्षक सुधार करेंगे। शिक्षकों के साथ जनप्रतिनिधि व नागरिक शैक्षिक सुधार पर काम करें। एक-एक स्कूल गोद लें। वहां हर बुनियादी सुविधा उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करे। बेसिक शिक्षा सुधरी तो आगे की शिक्षा भी दुरुस्त हो जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2017 से पूर्व परिषदीय स्कूल बदहाल थे। पढने-लिखने का माहौल ठीक नहीं था। इसे पटरी पर लाने के लगातार प्रयास हो रहे है। मिशन कायाकल्प के तहत स्कूलों की तस्वीर बदली जा रही है। हमारे स्कूल दिखने में सुंदर हो यह जरूरी है। स्कूल में व्यवस्था दुरुस्त करने के साथ हमें छात्र-छात्राओं की उपस्थिति पर भी काम करना है। हमारी कोशिश होनी चाहिए कि शत प्रतिशत बच्चे नियमित रूप से स्कूल आएं। इसके लिए अभिभावकों को प्रेरित करें। शिक्षक घर-घर जाकर अभिवाकों से बच्चों को स्कूल भेजने के लिए कहें। कोई बच्चा स्कूल नहीं आया है तो उनका कारण जानें।

योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर कहा, मेरा सभी शिक्षकों से आग्रह है कि अगले एक महीने में चलने वाले इस अभियान में घर-घर जाकर दस्तक दीजिए और पूछिए कोई बच्चा ऐसा तो नहीं है जो स्कूल जाने से वंचित रह गया हो। उस बच्चे को यूनिफॉर्म, किताबें, बैग आदि सुविधाएं उपलब्ध कराएं। अगर इनको सारी सुविधाएं उपलब्ध हो जाएंगी तो बच्चे दौड़ कर स्कूल पहुंचेंगे और हमारा अभियान भी पटरी पर आएगा।

उन्होंने कहा कि स्कूल चलो अभियान हमारी सरकार का बड़ा अभियान है। हमने कोरोना के खिलाफ बड़ी लड़ाई लड़ी है। इस दौरान भी शिक्षा का काम जारी रहा। उन्होंने कहा कि शिक्षा हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि सबको यह पता है कि जब व्यक्ति शिक्षा प्राप्त करने के बाद सक्षम होगा तो समाज भी सक्षम होगा। जब समाज सक्षम होगा तो फिर सक्षम राष्ट्र का हमारा सपना साकार होगा।

प्रदेश में स्कूल चलो का प्रदेश व्यापी अभियान 30 अप्रैल तक चलाया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper