मुन्ना बजरंगी की पत्नी ने जताया था शक बागपत में हो सकती है अनहोनी, नहीं चेता प्रशासन

लखनऊ: कुख्यात माफिया मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह की मांग को अगर पुलिस और जेल प्रशासन ने गम्भीरता से लिया होता तो शायद मुन्ना बजरंगी की जान बच सकती थी। सीमा ने लखनऊ के प्रेस क्लब में बीती 29 जून को पत्रकार वार्ता में उसकी जान को खतरा बताया था| उसने मुख्यमंत्री से सुरक्षा मांगी थी। इसके बाद भी आलाधिकारियों ने इसे गम्भीरता से नहीं लिया।

सीमा सिंह ने मुख्यमंत्री से सुरक्षा मांगते हुए कहा था कि किसी के इशारे पर मुन्ना का एन्काउन्टर करने की साजिश हो रही है। उन्होंने कहा था कि बागपत में पूर्व विधायक लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के मामले में उप्र पुलिस उनके पति मुन्ना बजरंगी को बाहर निकालकर फर्जी मुठभेड़ दिखाकर मार गिराना चाहती है। इसकी सूचना लगने पर वह मीडिया के माध्यम से न्याय की गुहार लगाने आयी है।

सीमा ने आरोप लगाया ​था कि मुन्ना को कोर्ट ले जाने के लिए बागपत जिले की पुलिस परेशान है। उसकी मंशा ठीक नहीं लगती है। बागपत पुलिस पर किसी न किसी का दबाव मालूम होता है। मुन्ना के एन्काउन्टर के लिए कहीं से कोई इशारा हुआ हो जैसे। पुलिस के दांवपेंच को समझ चुके मुन्ना बजरंगी ने अपने वकील विकास श्रीवास्तव को इसकी सूचना भेजी। इसके बाद अपने पति को बचाने के लिए सीमा सामने आई।

सीमा ने कहा था कि मुन्ना के साथ अगर कोई अनहोनी होती है तो इसके लिए यूपी पुलिस जिम्मेदार होगी। हालांकि सीमा के इन आरोपों को सरकार और प्रशासन ने गम्भीरता से नहीं लिया और सोमवार को मुन्ना बजरंगी की हत्या कर दी गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि मुन्ना बजरंगी मामले में शासन स्तर से कार्यवाही की जा रही है। अभी चार पुलिसकर्मियों को निलम्बित कर दिया गया है। जांच जारी है|

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper