मुलायम की समधन ने एलडीए वीसी पर लगाया गहने चोरी करने का आरोप

लखनऊ। मुलायम सिंह यादव की समधन और लखनऊ विकास प्राधिकरण की पूर्व उपसचिव अम्बी बिष्ट न गरुवार को एलडीए के उपाध्यक्ष पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने एलडीए के पीएन सिंह पर गहने चोरी करने का आरोप लगाते हुए अफसरों को प्रताडऩा करने की बात कही है। सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के छोटे बेटे प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा यादव की मां अम्बी बिष्ट लखनऊ विकास प्राधिकरण में संयुक्त सचिव के पद पर तैनात रह चुकीं हैं। अम्बी बिष्ट के तबादले के बाद एलडीए के वीसी पीएन सिंह ने अम्बी बिष्ट के कार्यालय का ताला तुड़वा दिया था।

अम्बी विष्ट ने बताया कि कमरे में कान, नाक और गले की ज्वेलरी रखी हुई थी, जो अब गायब है। इस पूरे मामले में अम्बी बिष्ट ने वीसी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए न्यायलय का दरवाजा खटखटाया है। न्यायलय ने गोमतीनगर थाने से 16 जुलाई को मामले की रिपोर्ट तलब की है। अम्बी बिष्ट का पिछले करीब चार महीने से एलडीए में सील कमरा बीते मंगलवार को खोला गया था। ये कमरा अम्बी बिष्ट को एलडीए में बतौर उप सचिव आवंटित था। जब से उनको एलडीए से नगर निगम सेवा में वापस भेजा गया तब से ये कमरा बंद था। अम्बी बिष्ट ने डीएम से शिकायत कर के कमरा न खोलने की गुहार लगाई थी। उनकी शिकायत थी कि कमरे में मूल्यवान वस्तुएं और सोने के गहने हैं।

जब कमरे को मजिस्ट्रेट और एलडीए अधिकारियों की मौजूदगी में खोला गया तो अंदर से प्लॉटों की मूल फाइलें मिलीं। एलडीए की अधिकृत दस्तावेज के अलावा अम्बी बिष्ट की व्यक्तिगत वस्तुएं मिलीं। जिनमें एक डायरी, एक जोड़ी चप्पल, शादी के कुछ काडज़्, उनके बेटे के नाम से दजज़् एक फ्लैट की बुकलेट और कुछ कागज थे। बिष्ट की ओर अधिकृत वकील सौरभ यादव ने व्यक्तिगत वस्तुओं को अपने पास रख लिया और दावा किया कि कमरे में सोने के कुछ गहने थे। जबकि एलडीए अधिकारियों का कहना है कि कमरे में जो कुछ भी था, वह सबके सामने आ चुका है। अब जिन भूखंड की मूल फाइलें मिली हैं, उनकी जाच करवाई जाएगी।

बता दें कि सपा सरकार में एलडीए की संयुक्त सचिव रहीं अम्बी विष्ट काफी ताकतवर मानी जाती थी। मुलायम की समधन होने के चलते ही सपा सरकार में उनके पति अरविंद सिंह बिष्ट को सूचना आयुक्त बनाया गया। अम्बी बिष्ट के रसूख का ही असर था कि उनकी एलडीए में तूती बोलती रही है। यही वजह रही कि वह नगर विकास सेवा की होने के बावजूद वह प्रतिनियुक्ति पर प्राधिकरण में जमीं रहीं। कई फर्जीवाड़ेे में नाम आने के बाद और अपने पति सूचना आयुक्त अरविंद बिष्ट के नाम पर एलडीए की करोड़ो की जमीन का पट्टा तक कर दिया था। जांच में दोषी मिलने पर उन्होंने जमीन वापस कर दी थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper