मुलायम को पद्मविभूषणः सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ने वाले धरतीपुत्र को मोदी सरकार का सम्मान

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर बुधवार को केंद्र की मोदी सरकार ने इस साल के पद्मपुरस्कारों की भी घोषणा की। 109 लोगों में छह लोगों को देश के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्मविभूषण से सम्मानित किया गया है। इसमें राजनीतिक और सेवा क्षेत्र से सबसे बड़ा नाम समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का है। मुलायम सिंह यादव को मरणोपरांत यह सम्मान दिया गया है। पिछले साल 10 अक्टूबर को मुलायम सिंह का निधन हो गया था। मुलायम सिंह को पद्मविभूषण उनके राजनीतिक और सामाजिक जीवन के संघर्षों को मोदी सरकार का सम्मान माना जा रहा है।

मुलायम सिंह यादव का नाम समाजवादी राजनीति और पिछड़ों एवं वंचितों के लिए न्याय की लड़ाई लड़ने के लिए जाना जाता है। उत्तर प्रदेश में मुलायम सिंह यादव की सियासत को सामाजिक न्याय की राजनीति के उभार के तौर पर देखा जाता है। राम मनोहर लोहिया, जयप्रकाश नारायण जैसे दिग्गज समाजवाजियों के साथ काम करने वाले मुलायम सिंह यादव ने सांप्रदायिकता के खिलाफ जंग में एक लकीर खींची थी। यही नहीं मुलायम सिंह यादव ने राजनीति में हमेशा विकल्पों को खुला रखा। उन्होंने भाजपा से जंग भी लड़ी और जरूरत पड़ने पर सहयोग भी किया। इसके अलावा 1995 में कांशीराम के साथ मिलकर सरकार गठन कर सबको चौंका दिया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper