मेघालय की बाजी हार गयी कांग्रेस

अखिलेश अखिल

मेघालय की बाजी हार गयी कांग्रेस। उसकी कोई कुटनीति और रणनीति अमित शाह के खेल के सामने नहीं चल पायी। कांग्रेस के बड़े बड़े नेता पहुंचे थे मेघालय ताकि खेल को अपने पक्ष में कर सके लेकिन विफलता ही हाथ लगी। मेघालय में 21 सीटें जीतकर भी कांग्रेस हार गई और वहां सरकार नहीं बना सकी।

कहानी सिर्फ इतनी है कि दो सीटों के साथ बीजेपी गठबंधन की सरकार बनाने में सफल हो गई। एनपीपी अध्यक्ष कॉनराड संगमा ने 34 विधायकों के समर्थन का दावा करते हुए राज्यपाल गंगा प्रसाद के सामने सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है। मतलब अब सबकुछ कांग्रेस के लिए मेघालय में ख़त्म हो गया है! आगे की रणनीति पर कांग्रेस की नजर रहेगी लेकिन फिलहाल कांग्रेस बहार हो चली है।

मेघालय के मतदाताओं ने किसी एक पार्टी को जनादेश नहीं दिया है जिसके कारण एक असमंजस की स्थिति बनी हुई थी लेकिन बीजेपी ने बाकी पार्टियों के साथ गठबंधन में तेजी दिखाई और वहां सरकार बनाती दिख रही है। भाजपा की सहयोगी पार्टी एनपीपी 19 सीटों के साथ विधानसभा में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है और कांग्रेस का खेल ख़त्म कर दिया। बता दें कि एनपीपी मणिपुर और केंद्र सरकार में भी भाजपा की सहयोगी पार्टी है और यूडीपी राजग के पूर्वोत्तर के गठबंधन नेडा का हिस्सा है।

मेघालय को जोड़ दिया जाये तो बीजेपी 21 राज्यों में भाजपा या उसकी सहयोगी पार्टी के साथ मिल कर सरकार बनाने वाली पार्टी बन गई है। आपको बता दें कि संगमा ने रविवार शाम एनपीपी (19), भाजपा (2), यूडीपी (6), एचएसपीडीपी (2), पीडीएफ (4) और एक निर्दलीय विधायक का समर्थन पत्र राज्यपाल को सौंप दिया। राजभवन की ओर से औपचारिकताओं का इंतजार किया जा रहा है लेकिन, संगमा का मुख्यमंत्री बनना तय है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper