मेरठ में दो गुटों में हिंसक झड़प, पुलिस ने किया लाठी चार्ज

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ के कोतवाली क्षेत्र की भगत सिंह मार्केट में गुरुवार की शाम को दोनों संप्रदाय के लोग आमने-सामने आ गए। दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई। सुबह अतिक्रमण हटाने को लेकर शुरू हुआ विवाद शाम को झगड़े में बदल गया। मामला दो संप्रदाय से जुड़ा होने के चलते एसपी सिटी कई थानों की फोर्स लेकर मौके पर पहुंच गए। लेकिन लोगों का हंगामा शांत नहीं हुआ। पुलिसकर्मियों से धक्का मुक्की हुई तो हंगामा करने वालों पर लाठीचार्ज कर दिया। बाद में दोनों पक्षों के लोग थाने पहुंचे तो वहां भी दोनों पक्षों में हाथापाई हो गई। सीओ से अभद्रता की गई।

दरअसल, भगत सिंह मार्केट में प्रहलादनगर के नितिन अरोड़ा की अरोड़ा गारमेंट्स के नाम से दुकान है। इसी दुकान के सामने पेरिस बर्तन स्टोर नाम की दुकान जुबैर की है। गुरुवार की सुबह नगर पालिका और पुलिस की टीम यहां पर अतिक्रमण हटाने के लिए पहुंची। टीम ने जुबैर की दुकान के सामने रखे बर्तनों को अंदर करा दिया। इसी दौरान जुबैर ने अरोड़ा गारमेंट्स दुकान को लेकर कमेंट कर दिया कि उसकी दुकान का अतिक्रमण क्यों नहीं हटाया गया, जब उसका हटा दिया गया। जुबैर और नितिन के बीच इसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। सुबह तो मामला निपट गया।

शाम के समय नितिन का आरोप है कि जुबैर ने अपने लोग बुलाकर उस पर हमला करा दिया। वहीं जुबैर का आरोप है कि नितिन ने उस पर हमला करा दिया। दोनों पक्षों के लोग मौके पर आ गए और हंगामा करने लगे। पुलिस ने इस मामले में अहमद अली, दानिश, सादाब, सुहैल, आदिल को हिरासत में ले लिया। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी है।

भगत सिंह मार्केट में हुए विवाद के बाद पुलिस ने बाजार को बंद करा दिया। एसपी सिटी का कहना है कि बाजार इसलिए बंद कराया गया, ताकि पुलिस के जाने के बाद कोई बवाल न हो। इस मामले में नितिन पक्ष के लोगों ने प्रहलादनगर में एक मकान में बैठक की। जिसमें निर्णय लिया गया कि शुक्रवार को वह विरोध में बाजार बंद रखेंगे। नितिन का आरोप है कि जुबैर पक्ष के लोग उनके साथ गाली गलौच करते है। वहीं जुबैर पक्ष का आरोप है कि नितिन पक्ष के लोग गाली गलौच करते हैं।

सांप्रदायिक झगड़े की सूचना पर भाजपा नेता कमलदत्त शर्मा थाना कोतवाली पहुंच गए। उन्होंने दूसरे समुदाय के लोगों पर कार्रवाई की मांग की। इसी दौरान दूसरे समुदाय के सैकड़ों लोग भी थाने जा पहुंचे। यहां पर दोनों पक्षों के बीच हाथापाई हो गई। थाना पुलिस ने किसी तरह से मामला शांत किया और दोनों पक्षों को थाने से बाहर किया।

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि भगत सिंह मार्केट में मामूली बात को लेकर हुए विवाद में पुलिस समय पर नहीं पहुंचती तो बड़ी बवाल हो सकता था। दोनों पक्ष एक दूसरे के सामने हथियार लेकर आ गए थे लेकिन, पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाल लिया। इस मामले में दोनों पक्षों की तरफ से तहरीर आई है। जांच के बाद केस दर्ज किया जाएगा। बाजार बंद इसलिए कराया गया, ताकि देर रात में कोई बवाल न हो

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper