मेरठ में मुस्तैद नजर आई पुलिस, सीएम योगी ने डीजीपी से तलब की रिपोर्ट

मेरठ: सुप्रीम कोर्ट के आदेश के विरोध में सोमवार को दलितों के बवाल के बाद मंगलवार को पूरे शहर में शांति रही। बवाल वाले शहर के बाहरी स्थानों पर भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात रहा। राजनीतिक दलों के लोग भी सड़कों पर नहीं दिखाई दिए।

सोमवार सुबह से ही दलित समाज के लोगों ने मेरठ शहर में जमकर बवाल मचाया था। कई बसों, कारों और दोपहिया वाहनों को आग लगाने के साथ-साथ लोगों पर जमकर पथराव किया। इस दौरान फायरिंग भी की गई। वकीलों ने कचहरी में दलितों के उपद्रव का जवाब देकर उन्हें खदेड़ा। बाईपास स्थित एमआईईटी काॅलेज के छात्रों ने भी उपद्रवियों को खदेड़ा।

सोमवार को बवाल के दौरान गायब रही पुलिस मंगलवार को मुस्तैद नजर आई। खासकर शहर के बाहरी इलाकों में मंगलवार सुबह से ही भारी मात्रा में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। बाईपास पर रोहटा रोड, बागपत रोड, सरधना रोड, मोदीपुरम बाईपास के साथ-साथ कचहरी के पास स्थित अंबेडकर चौक, तेजगढ़ी चौक, मवाना रोड, किला परीक्षितगढ़ रोड, हापुड़ रोड, गढ़ रोड पर भारी पुलिस फोर्स तैनात रही। एसपी सिटी मान सिंह चौहान और एसपी देहात राजेश कुमार की अगुवाई में लगातार आरआरएफ और पीएसी की टीम गश्त कर रही थी।

बवाल के बाद जागी प्रदेश सरकार ने सभी जिलों से लगातार रिपोर्ट तलब की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डीजीपी ओपी सिंह ने पल-पल की रिपोर्ट तलब की है। इस पर मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार लगातार लखनउ को पूरे जोन की स्थिति की रिपोर्ट भेज रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper